लाइव टीवी

कैसे करें बुधवार का व्रत, पूजा-विधि के बारे में जान लें ये बातें

News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 10:30 AM IST
कैसे करें बुधवार का व्रत, पूजा-विधि के बारे में जान लें ये बातें
बुधवार के व्रत को अगर विधि-विधान से किया जाएं तो व्रत रखने वाले की सभी मनोकामनाएं मां लक्ष्मी पूरा करती हैं.

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार बुधवार (Wednesday) के व्रत की शुरुआत विशाखा नक्षत्रयुक्त को करनी चाहिए और इसके बाद लगातार सात बुधवार तक व्रत करना चाहिए.

  • Share this:
कई लोग बुधवार को मां लक्ष्मी (Maa Laxmi) और भगवान बुध की पूजा अर्चना करते हैं. वहीं लोग इस दिन व्रत (Fast) भी रखते हैं. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार बुधवार (Wednesday) के व्रत की शुरुआत विशाखा नक्षत्रयुक्त को करनी चाहिए और इसके बाद लगातार सात बुधवार तक व्रत करना चाहिए. इस व्रत को अगर विधि-विधान से किया जाएं तो व्रत रखने वाले की सभी मनोकामनाएं मां लक्ष्मी पूरा करती हैं. व्रती के जीवन में सुख-शांति रहती है और घर धन-धान्य से भरा रहता है. आइए जानते हैं वुधवार की पूजा विधि के बारे में ये खास बातें.

शुक्ल पक्ष के पहले बुधवार से बुधवार का व्रत करना शुभ माना जाता है.

इस दिन प्सुबह उठें व नित्यक्रियाओं से निपटने के पश्चात स्नान कर, स्वच्छ होकर भगवान बुध की पूजा करनी चाहिए.



व्रती हरे रंग की माला या वस्त्रों का प्रयोग जरूर करें. ऐसा करने से उनके जीवन में अच्छा होता है.



व्रत शुरू करने से पहले भगवान गणेश सहित नवग्रह पूजन जरूर करें. ये शुभ माना जाता है.

यदि पूजा के लिए भगवान बुध की प्रतिमा न मिले तो भगवान शिव की प्रतिमा की भी पूजा की जा सकती है.

दिन भर के व्रत रखने के पश्चात शाम को भी पूजा करनी चाहिए.

व्रत के दौरान भागवत महापुराण का पाठ करना अच्छा होता है.

इसके अलावा बुधवार के व्रत में हरे रंग के वस्त्र, फूल या सब्ज़ी का दान करना शुभ माना जाता है.

इस दिन एक समय दही, मूंग दाल का हलवा या फिर हरी वस्तु से बनी चीजों का सेवन करना चाहिए.

इस दिन केवल एक समय ही भोजन करें.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें
First published: May 20, 2020, 10:30 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading