• Home
  • »
  • News
  • »
  • dharm
  • »
  • बृहस्पति देव को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय, जीवन में मिलेगी सफलता

बृहस्पति देव को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय, जीवन में मिलेगी सफलता

बृहस्पति देव को प्रसन्न करने के लिए गुरुवार का व्रत करना चाहिए. Image - Shutterstock

बृहस्पति देव को प्रसन्न करने के लिए गुरुवार का व्रत करना चाहिए. Image - Shutterstock

Guruvar Upay: गुरु को नौ ग्रहों में सबसे ज्यादा शुभ ग्रह माना जाता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अगर कुंडली में गुरु कमजोर हों तो ऐसे जातक को जीवन में कष्ट का सामना करना पड़ता है.

  • Share this:

    Guruvar Upay: ज्योतिष शास्त्र (Astrology) के अनुसार कुंडली में बैठे हर ग्रह का जातक के जीवन पर सीधा असर पड़ता है. ज्योतिष में नौ ग्रह माने जाते हैं. इसमें गुरु को सबसे शुभ ग्रह माना गया है. जीवन के सभी क्षेत्रों में सफलता के पीछे गुरू ग्रह की स्थिति बेहद महत्वपूर्ण मानी गई है. धार्मिक शास्त्रों के अनुसार बृहस्पति को सभी देवों के गूरु के तौर पर भी जाना जाता है. जातक की कुंडली (Kundli) में अगर गुरु मजबूत स्थिति में होता है तो उसका सफल होना लगभग तय होता है, वहीं अगर गुरु कमजोर हो तो जीवन में परेशानियां बढ़ जाती हैं.

    किसी भी काम में सफलता नहीं मिल पाती है और आर्थिक तौर पर भी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. ऐसे में यह जानना बेहद अहम हो जाता है कि अगर किसी का गुरु कमजोर है तो उसे कैसे मजबूत किया जा सकता है.

    गरीबों को खाना खिलाएं
    गुरु के कुंडली में कमजोर होने की वजह से जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है. अगर आपकी कुंडली में भी गुरु कमजोर स्थिति में हैं तो इसके दुष्प्रभाव से बचने के लिए अवसर मिलते ही गरीबों को भोजन कराना चाहिए. उन्हें दही-चावल खिलाना काफी शुभ माना जाता है. मान्यता है कि इससे बुरे प्रभावों को को कम किया जा सकता है.

    शिव की भक्ति करें
    गुरु के दुष्प्रभाव को कम करने और उसे सकारात्मक दिशा में लाने के लिए भगवान भोलेनाथ की आराधना को श्रेष्ठ माना गया है. रुद्राभिषेक भी गुरु को प्रसन्न करने का उत्तम उपाय बताया जाता है. गुरु के दुष्प्रभाव को पंचमुखी रुद्राक्ष धारण कर कम किया जा सकता है.

    इसे भी पढ़ें: शनिदेव को प्रसन्न करना है तो इन 5 आसान उपायों को करें, कष्ट होंगे दूर

    गुरुवार को रखें व्रत
    बृहस्पति देव को प्रसन्न करने के लिए पीड़ित जातक को गुरुवार का व्रत अवश्य करना चाहिए. इस दिन पीले वस्त्रों को धारण करना भी श्रेष्ठ माना गया है. व्रत का पारायण भी पीले भोजन के साथ करना चाहिए.
    इन चीजों का करें दान
    अगर आप राशि में गुरु कमजोर स्थिति में हैं तो इससे उत्पन्न होने वाली परेशानी से बचने के लिए कुछ चीजों का दान करना शुभ माना गया है. इसमें सोना, कांसे का बर्तन, पुखराज, पीला कपड़ा, घी, पीला फूल, पीला फल, चने की दाल के दान का कहा गया है. यह दान गुरुवार को करने पर ज्यादा शुभफलदायक होता है.

    इसे भी पढ़ें: Shiv Temples: ये हैं देश के 6 प्रसिद्ध शिव मंदिर, यहां दर्शन मात्र से कष्ट हो जाते हैं दू

    बुजुर्गों, गुरु की करें सेवा
    जो भी जातक कुंडली में कमजोर गुरु की वजह से परेशानी में हैं उन्हें सबसे पहले अपने माता-पिता और बुजुर्गों की सेवा में जुट जाना चाहिए. इसके साथ ही अपने गुरुओं का भी आदर सत्कार करने से गुरु शुभ फल देते हैं. इससे अन्य ग्रहों का प्रभाव भी कम होता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज