Home /News /dharm /

janmashtami 2022 laddu gopal ki seva aur puja karne ke saral niyam upay kee

Janmashtami 2022: अगर आप भी हैं लड्डू गोपाल के अनन्य भक्त तो करें इन नियमों का पालन

लड्डू गोपाल को माखन-मिश्री, बूंदी के लड्डू, खीर और हलवे का भोग लगा सकते है. (Image-Shutterstock)

लड्डू गोपाल को माखन-मिश्री, बूंदी के लड्डू, खीर और हलवे का भोग लगा सकते है. (Image-Shutterstock)

सनातन धर्म में लगभग हर देवी-देवता के कई अवतार का वर्णन धार्मिक शास्त्रों में पढ़ने को मिलता है. धर्म पुराणों के अनुसार, समय और ज़रूरत के मुताबिक अनेक देवी-देवता ने अवतार लिया. उन्हीं में से एक भगवान कृष्ण के बाल रूप लड्डू गोपाल को पूजा जाता है. इनकी सेवा करने के कई नियम बताए गए हैं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

लड्डू गोपाल को माखन-मिश्री, बूंदी के लड्डू, खीर और हलवे का भोग लगाएं.
लड्डू गोपाल को एक बार जो वस्त्र पहना दिए जाएं, उन्हें दोबारा नहीं पहनाना चाहिए.

Laddu Gopal : भगवान श्री कृष्ण को हिन्दू धर्म में लोग बहुत से नामों से पूजते हैं. इन्हीं रूपों में से एक है लड्डू गोपाल. भगवान कृष्ण के इस बाल्य रूप के लोग इतने भक्त हो जाते हैं कि घर में भी वे श्री कृष्ण के इस बाल्य रूप को स्थापित कर लेते हैं, लेकिन लड्डू गोपाल की प्रतिमा को घर में रखने के कुछ नियम भी हैं, जिसको घर में स्थापित करने के बाद पूरे विधि-विधान के साथ सेवा करनी बहुत ज़रूरी है. भोपाल निवासी पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा, ज्योतिषी बताते हैं कि इस रूप में वे बालक होते हैं, इसलिए एक बालक की तरह लड्डू गोपाल की देखभाल करनी होती है. आइए जानते हैं कैसे करे भगवान लड्डू गोपाल की सेवा.

प्रतिदिन स्नान कराएं
घर में लड्डू गोपाल को रखने का पहला नियम है कि इन्हें प्रतिदिन पूजा के पहले स्नान कराना चाहिए. लड्डू गोपाल को स्नान कराने के लिए आप दूध, दही, घी, शहद, और गंगाजल का इस्तेमाल कर सकते हैं. लड्डू गोपाल को शंख से स्नान कराने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती है. शंख में माता लक्ष्मी का वास होता है.

यह भी पढ़ें – माता लक्ष्मी का आशीर्वाद पाने के लिए शुक्रवार के दिन करें ये 5 उपाय

श्रृंगार करें
स्नान कराने के बाद भगवान लड्डू गोपाल का श्रृंगार करना बहुत आवश्यक है. धार्मिक शास्त्रों के अनुसार, लड्डू गोपाल को एक बार जो वस्त्र पहना दिए जाएं, उन्हें दोबारा नहीं पहनाना चाहिए. यदि आप नए वस्त्र प्रतिदिन नहीं ले पाएं तो उन्हीं वस्त्रों को अच्छी तरह से धोकर पहना सकते हैं. साथ में चन्दन का टीका लगाएं और भगवान की नज़र उतारकर आरती करें.

भोग लगाएं
लड्डू गोपाल को पूजा के दौरान भोग लगाएं. भगवान श्री कृष्ण शाकाहारी थे, इसलिए लड्डू गोपाल को लगने वाले भोग में प्याज, लहसुन का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए. आप लड्डू गोपाल को माखन-मिश्री, बूंदी के लड्डू, खीर और हलवे का भोग लगा सकते है.

यह भी पढ़ें – बैड लक दूर करना चाहते हैं, तो सुबह उठकर अपनाएं ये उपाय

अकेला न छोड़ें
लड्डू गोपाल को यदि आपने अपने घर में स्थापित किया है तो उनकी देखभाल भी बिल्कुल बच्चों की तरह करनी होगी, इसलिए लड्डू गोपाल को घर में कभी भी अकेला न छोड़ें. यदि आप कहीं बाहर जा रहें हैं तो लड्डू गोपाल को अपने साथ ले जाएं और नियमित रूप से उनकी पूजा करते रहें.

Tags: Dharma Aastha, Janmashtami, Religion, Sri Krishna Janmashtami

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर