होम /न्यूज /धर्म /

Janmashtami 2022: सूनी है गोद या कालसर्प दोष से रहते हैं परेशान तो जन्माष्टमी पर ये उपाय करेंगे मदद

Janmashtami 2022: सूनी है गोद या कालसर्प दोष से रहते हैं परेशान तो जन्माष्टमी पर ये उपाय करेंगे मदद

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर इन मंत्रों के जाप से हर काम आसान किया जा सकता है.

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर इन मंत्रों के जाप से हर काम आसान किया जा सकता है.

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व 18 अगस्त को मनाया जाएगा. इस दिन भगवान कृष्ण की पूजा के लिए कुछ उपाय अपनाए जाएं, तो जीवन में सुख-समृद्धि का वास होता है. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर इन मंत्रों के जाप से हर काम आसान किया जा सकता है.

हाइलाइट्स

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व 18 अगस्त को मनाया जाएगा.
इस दिन भगवान कृष्ण की पूजा करने से जीवन में सुख-समृद्धि का वास होता है.
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर इन मंत्रों के जाप से हर काम आसान किया जा सकता है.

Janmashtami 2022: भगवान श्रीकृष्ण भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को जन्मे थे. दुनिया से बुराई और पाप को नष्ट करने के लिए भगवान विष्णु ने कृष्ण के अवतार में जन्म लिया था. इसके बाद हर वर्ष इस दिन जन्माष्टमी मनाई जाती है. इस साल श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व 18 अगस्त को मनाया जाएगा. ऐसा माना जाता है कि इस दिन भगवान कृष्ण की पूजा के लिए कुछ उपाय अपनाए जाएं, तो जीवन में सुख-समृद्धि का वास होता है. पंडित इंद्रमणि घनस्याल श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर शास्त्रों में बताए गए उन मंत्रों के बारे में बता रहे हैं, जिनके जाप से हर काम आसान किया जा सकता है.

काम में आ रही बाधा दूर करने के लिए

मंत्र: ॐ श्रीं नम: श्रीकृष्णाय परिपूर्णतमाय स्वाहा

यदि आपका कोई कार्य लंबित चल रहा है. या फिर आप करने में असफल हो रहे हैं, तो जन्माष्टमी पर इस मंत्र का आपको जाप करना चाहिए. श्रीकृष्ण की पूजन के समय इस मंत्र का जाप करना शुभ माना जाता है.

संतान प्राप्ति के लिए

मंत्र: देवकी सुत गोविंद वासुदेव जगत्पते, देहिमे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गतः
क्लीं ग्लौं क्लीं श्यामलांगाय नमः

विवाह के बाद संतान प्राप्ति में अगर किसी तरह की परेशानी आ रही है तो पति-पत्नी को जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करते समय इस मंत्र का उच्चारण करना चाहिए. इससे आपकी संतान प्राप्ति की मनोकामना पूर्ण होती है.

यह भी पढ़ेंः क्या है पंचगव्य? धार्मिक अनुष्ठान में गाय से जुड़ी इन पांच चीजों का होता है विशेष महत्व

शीघ्र विवाह के लिए

मंत्र : ओम् क्लीं कृष्णाय गोविंदाय गोपीजनवल्ल्भाय स्वाहा.

यदि विवाह में देरी हो रही है, या फिर किसी तरह की रुकावट आ रही है तो इस मंत्र का जाप करना शुभ माना जाता है. इस मंत्र का 108 बार करना चाहिए, इससे भगवान श्रीकृष्ण से शीघ्र विवाह का आशीर्वाद प्राप्त होता है.

करियर में सफलता के लिए

मंत्र: गोवल्लभाय स्वाहा

इस मंत्र के जाप करने से मात्र हर बिगड़े काम बन जाते हैं. इस मंत्र से आर्थिक समृद्धि के साथ सुख शांति प्राप्त होती है. जन्माष्टमी पर इस मंत्र का जाप करना बेहद लाभकारी होती है.

यह भी पढ़ेंः Bhadrapada Sankashti Chaturthi 2022: कब है भाद्रपद संकष्टी चतुर्थी? जानें तिथि और पूजा मुहूर्त

कालसर्प दोष से मुक्ति

जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण भगवान को मोर पंख अर्पित करना शुभ माना जाता है. शास्त्रों के अनुसा, जन्माष्टमी की रात्रि तकिए के नीचे सात मोर पंख रखने से कालसर्प दोष से मुक्त हो सकते हैं. घर में मोर पंख रखने से सुख समृद्धि का वास होता है.

Tags: Dharma Aastha, Dharma Culture, Janmashtami, Lord krishna, Sri Krishna Janmashtami, Vastu tips

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर