Kamada Ekadashi 2021: कामदा एकादशी व्रत आज, जानें व्रत विधि, पारण मुहूर्त और पारण विधि

गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा करने के बाद पीला भोजन ही ग्रहण करें.

गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की पूजा करने के बाद पीला भोजन ही ग्रहण करें.

Kamada Ekadashi 2021 Vrat Today Know Vidhi, Parana Time, Parana Vidhi: कामदा एकादशी व्रत भगवान विष्णु (Lord Vishnu) को समर्पित माना जाता है. इस व्रत को करने से कई यज्ञों के बराबर पुण्य प्राप्त होता है और जातक के सारे पाप कट जाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2021, 9:51 AM IST
  • Share this:
Kamada Ekadashi 2021 Vrat Today Know Vidhi, Parana Time, Parana Vidhi: कामदा एकादशी 2021 इस बार 23 अप्रैल शुक्रवार यानी कि आज है. कामदा एकादशी व्रत भगवान विष्णु (Lord Vishnu) को समर्पित है. भक्तों ने आज भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए उपवास रखा है और पूजा-अर्चना की है. पद्म पुराण में इस बात का उल्लेख मिलता है कि भगवान कृष्ण ने धर्मराज युधिष्ठिर को एकादशी का धार्मिक महत्व बताते हुए कहा था कि जिस तरह नागों में शेषनाग, पक्षियों में गरुड़, देवताओं में श्री विष्णु, वृक्षों में पीपल तथा मनुष्यों में ब्राह्मण श्रेष्ठ हैं, उसी प्रकार सम्पूर्ण व्रतों में एकादशी श्रेष्ठ है.चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को कामदा एकादशी कहते हैं. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, इस व्रत को करने से कई यज्ञों के बराबर पुण्य प्राप्त होता है और जातक के सारे पाप कट जाते हैं. व्रत करना जितना महत्वपूर्ण है उतना ही महत्वपूर्ण है इसका पारण भी. आइए जानते हैं कामदा एकादशी की पूजा विधि, पारण मुहूर्त और पारण की विधि...

कामदा एकादशी 2021 का पारण:

कामदा एकादशी व्रत का पारण 24 अप्रैल को किया जाएगा. व्रत का पारण सुबह 5 बजकर 47 मिनट से लेकर 8 बजकर 24 मिनट के बीच किसी भी समय किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: Mahavir Jayanti 2021 Date: महावीर जयंती कब है? जानें तारीख और कौन थे भगवान महावीर


कामदा एकादशी व्रत विधि:

आज कामदा एकादशी के दिन भक्तों ने उपवास रखा है. भक्त भगवान का सुमिरन करते हुए उनके विष्णुसहस्रनाम का पाठ कर रहे हैं और भजन गा रहे हैं. इसके साथ ही पूजा-अर्चना कर रहे हैं. आरती और चालीसा गा रहे हैं. शाम को भक्त कथा का पाठ करेंगे और रात्रि में भजन गाते हुए जागरण करेंगे. द्वादशी की सुबह कामदा एकादाशी व्रत का पारण किया जाता है. आइए जानते हैं कामदा एकादशी व्रत के पारण की विधि:



कामदा एकादशी व्रत के पारण की विधि

-स्नान करें और साफ कपड़े पहनें.

- भगवान विष्णु का ध्यान करें.

- भगवान विष्णु की प्रतिमा के सामने एक तेल का दीपक (दीप) और धूप (अगरबत्ती और धूप) जलाएं. भगवान विष्णु का आह्वान करें.

- मन ही मन ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय ’मंत्र का जितनी बार हो सके उतनी बार जप करें.

-देवता को जल (जल), फूल (पुष्पा) और भोग (फल या मिठाई या अन्य सात्विक भोजन ) चढ़ाएं. यदि आपके पास फल और फूल ना भी हो तब भी आप पानी पीकर भी कामदा एकादशी व्रत का पारण कर सकते हैं.

- ईश्वर से हाथ जोड़कर प्रर्थना करें कि अगर व्रत के दौरान आपसे कोई भूल-चूक हुई हो तो  ईश्वर आपको माफ़ करें.

-व्रत के बाद शाकाहारी और बिना लहसुन और प्याज के बने खाने को जरूरतमंदों को दान करें. फिर इसी खाने को खाकर अपना व्रत खोलें. पारण के मुहूर्त में ही अपना व्रत खोलें और तामसिक खाद्य पदार्थों का सेवन भूलकर भी न करें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज