जानें कैसा होता है घर में पीपल का पौधा उगना, हटाने के लिए अपनाएं ये नियम

पीपल का पेड़ शीतलता प्रदान करता है. इसकी पूजा भी की जाती है लेकिन घर पर यदि यह उग आए तो निर्जनता उत्‍पन्‍न होती है.
पीपल का पेड़ शीतलता प्रदान करता है. इसकी पूजा भी की जाती है लेकिन घर पर यदि यह उग आए तो निर्जनता उत्‍पन्‍न होती है.

मान्‍यता है कि पीपल के पेड़ (Peepal Tree) के कण-कण में ईश्‍वर (God) का वास होता है. कई अवसरों पर इस पेड़ की पूजा (Worship) भी की जाती है. इतना ही नहीं इस पेड़ को प्रति दिन जल चढ़ाने के भी कई फायदे हैं लेकिन इन सबके बावजूद घर पर पीपल का पेड़ उगना अशुभ माना जाता है.

  • Share this:
वास्‍तु (Vastu) शास्‍त्र में कई पेड़-पौधों (Plants) के बारे में बताया गया है, जिन्‍हें घर में लगाने से शुभ फल मिलते हैं. हालांकि ऐसे भी कई पेड़-पौधे हैं, जिनकी घर पर मौजूदगी नकारात्मक ऊर्जा (Negative Energy) का संचार करती है. इनमें से एक है 'पीपल का पेड़' (Peepal Tree). पुराणों में 'पीपल के पेड़' को दिव्य पेड़ कहा गया है. ऐसी मान्‍यता है कि इस पेड़ के कण-कण में ईश्‍वर (God) का वास होता है. कई अवसरों पर इस पेड़ की पूजा (Worship) भी की जाती है. इतना ही नहीं इस पेड़ को प्रति दिन जल चढ़ाने के भी कई फायदे हैं लेकिन इन सबके बावजूद घर पर पीपल का पेड़ उगना अशुभ माना जाता है.

दरअसल पीपल का पेड़ शीतलता प्रदान करता है. इसकी पूजा भी की जाती है लेकिन घर पर यदि यह उग आए तो निर्जनता उत्‍पन्‍न होती है. इसके पीछे एक वैज्ञानिक तथ्‍य भी है. आपको बता दें कि ऑक्‍सीजन देने वाले पेड़ों में पीपल सबसे आगे है लेकिन यह पूरे दिन में दो घंटे के लिए बहुत अधिक कार्बन डाईऑक्साइड भी छोड़ता है, जो मनुष्य के लिए बेहद नुकसानदायक है. इसलिए पुराणों में भी केवल सुबह और दोपहर के वक्‍त ही पीपल के पेड़ के पास जाने की बात कही गई है.

ज्योतिष शास्त्र में भी पीपल के पेड़ का घर में उगना अशुभ बताया गया है. कहते हैं कि घर पर पीपल का पौधा उगना या घर के बाहर पीपल का पेड़ होना, दोनों ही स्थितियां वास्‍तु के आधार पर अशुभ मानी जाती हैं. इतना ही नहीं अगर किसी घर पर पीपल के पेड़ की छाया भी पड़ती है तो वह स्‍थान निर्जन रहता है. ऐसे में पीपल के पौधे को घर से हटा देना ही उचित होता है.



घर से कैसे हटाएं पीपल का पौधा
आमतौर पर पीपल का पेड़ अपने आप ही घर के किसी भी कोने में निकल आता है. इसे हटाने के लिए लोग या तो इसे काट देते हैं या फिर एसिड से इसे जला देते हैं. लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हर काम को करने का एक नियम और कायदा होता है. वास्‍तु में पीपल के पौधे को घर से हटाने का सही तरीका भी बताया गया है-

45 दिन तक पीपल के पौधे की पूजा
बार-बार एक जगह पर पीपल का पौधा उग रहा है तो आप 45 दिन तक उस पीपल के पौधे की पूजा करें और उस पर कच्‍चा दूध चढ़ाएं. इसके बाद पीपल के पौधे को जड़ सहित उखाड़ कर किसी दूसरे स्‍थान पर लगा दें.

पीपल के पेड़ की पूजा करके उसे कटवा सकते हैं
अगर घर पर पीपल के वृक्ष की छाया पड़ रही है तो इससे परिवार के सदस्‍यों की तरक्‍की रुक जाती है, घर में आर्थिक संकट (धन लाभ और सुख-शांति के लिए टिप्‍स) मंडराने लगता है और वंश आगे नहीं बढ़ता. इस स्थिति में रविवार के दिन आप पीपल के पेड़ की पूजा करके उसे कटवा सकते हैं. बिना पूजा किए पीपल का पेड़ न कटवाएं, इससे आपके पितरों को कष्ट होता है.

गमले में लगा कर किसी मंदिर में रखवा दें
घर की पूर्व दिशा में पीपल का पेड़ लगा हो तो इससे घर में भय और निर्धनता आती है. आप पीपल के पेड़ की विधानपूर्वक पूजा करवा कर उसे कटवा सकते हैं. अगर पीपल का छोटा पौधा है तो आप उसे एक गमले में लगा कर किसी मंदिर में रखवा दें.

व्रत भी रख सकते हैं
यदि आपके घर के अंदर पीपल का पौधा है या फिर पीपल के वृक्ष की छाया आपके घर पर पड़ती है तो आप इसके लिए एक खास व्रत रख कर इसे कटवा सकते हैं. पुराणों में पीपल के पेड़ या पौधे को कटवाने से पहले 'पीपल प्रदाषिणा व्रत' का उल्‍लेख मिलता है. दरअसल, पीपल के पेड़ में भगवान ब्रह्मा, विष्‍णु और महेश वास करते हैं. ऐसे में बिना पूजा और व्रत के पीपल के पेड़ को काटना या उसे हानि पहुंचाने से बुरे परिणाम भी झेलने पड़ सकते हैं.  (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज