लाइव टीवी

माघ पूर्णिमा आज, इस शुभ मुहूर्त में करें स्नान तो मिलेगा अद्भुत फल

News18Hindi
Updated: February 9, 2020, 11:14 AM IST
माघ पूर्णिमा आज, इस शुभ मुहूर्त में करें स्नान तो मिलेगा अद्भुत फल
माघ पूर्णिमा आज है

माघ पूर्णिमा(Magh Purnima): माना जाता है कि इस दिन भगवान विष्णु (Lord Vishnu) और 33 हजार देवी-देवता गंगा में स्नान करने आते हैं ताकि उन्हें भी पुण्य फल की प्राप्ति हो सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2020, 11:14 AM IST
  • Share this:
माघ पूर्णिमा(Magh Purnima): आज 9 फ़रवरी को माघ पूर्णिमा है. हिंदू धर्म में माघ मास में पड़ने वाली पूर्णिमा का विशेष महत्व है. कुछ जगहों पर इसे माघी पूर्णिमा भी कहा जाता है. इस बार माघ मास की पूर्णिमा 9 फरवरी को पड़ रही है. इस बार की माघ पूर्णिमा कई मायनों में ख़ास है. आज महा माघी का संयोग बन रहा है जोकि मंगल फल देने वाला है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, माघ पूर्णिमा के दिन स्नान ध्यान करने से सभी पाप कर्मों का नाश होता है और दोषों से मुक्ति मुलती है.

यह भी माना जाता है कि इस दिन भगवान विष्णु (Lord Vishnu) और 33 हजार देवी-देवता गंगा में स्नान करने आते हैं ताकि उन्हें भी पुण्य फल की प्राप्ति हो सके. यही वजह है कि आम जन भी इस दिन गंगा स्नान का पुण्य प्राप्त करने गंगा घाट पर पहुंचते हैं. ऐसा भी माना जाता है कि इस दिन जो जातक पूरे विधि विधान से पूजा पाठ करता है मृत्यु के बाद उसे स्वर्ग की प्राप्ति होती है. आइए जानते हैं माघ पूर्णिमा पर स्नान का शुभ मुहूर्त:

इसे भी पढ़ें: साप्ताहिक पंचांग: फरवरी में कैसा रहेगा आपका पहला सप्ताह, जानें शुभ मुहूर्त, व्रत और त्यौहार

माघ पूर्णिमा पर स्नान का शुभ मुहूर्त:

माघ माह की पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त आज दोपहर 1 बजकर 5 मिनट तक रहेगा. लेकिन माघ पूर्णिमा गत शनिवार की रात 12 बजकर 13 मिनट पर माघी पूर्णिमा लग रही है, जो रविवार रात्रि एक बजकर 14 मिनट तक रहेगी.

माघी पूर्णिमा पर स्नान के बाद सूर्य को जल देती महिलायें
माघी पूर्णिमा पर स्नान के बाद सूर्य को जल देती महिलायें


माघ माह में पूजा का तरीका:पद्मपुराण के मुताबिक बाकी के महीनों में जप, तप और दान से भगवान विष्णु उतने प्रसन्न नहीं होते, जितने कि वे माघ मास में स्नान करने से होते हैं. माघ मास में स्नान के अलावा दान का विशेष महत्व है. दान में तिल-गुड़ और कंबल का विशेष पुण्य है. माना जाता है कि जो पूरे माघ मास में संगम में स्नान नहीं कर पाते हैं. उन्हें माघी पूणिमा के स्नान से ही बराबर पुण्य लाभ की प्राप्ति होती है.

इसे भी पढ़ें: February Panchang: यहां देखें फरवरी का पंचांग, जानें महीने के शुभ मुहूर्त, व्रत और त्यौहार की पूरी लिस्ट

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्म से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 8:14 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर