लाइव टीवी

Maha Shivratri Puja: महाशिवरात्रि में बस एक दिन बाकी, यहां देखें पूजा सामग्री की पूरी लिस्ट

News18Hindi
Updated: February 20, 2020, 5:49 AM IST
Maha Shivratri Puja: महाशिवरात्रि में बस एक दिन बाकी, यहां देखें पूजा सामग्री की पूरी लिस्ट
महाश‌िवरात्र‌ि पूजा सामग्री लिस्ट

महाशिवरात्रि पूजा सामग्री लिस्ट (Maha Shivratri Puja Samagri List): बेहद जरूरी है कि महाशिवरात्रि की पूजा से पहले पूजा की सारी सामग्री खरीद ली जाए ताकि बाद में भागदौड़ न करनी पड़े.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2020, 5:49 AM IST
  • Share this:
महाशिवरात्रि पूजा सामग्री लिस्ट (Maha Shivratri Puja Samagri List): महाशिवरात्रि में 21 फरवरी शुक्रवार के दिन है. इसमें बस कुछ ही घंटे बाकी हैं. महाशिवरात्रि के दिन भक्त पूरे विधि विधान के साथ भगवान शिव की पूजा अर्चना करते हैं. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस दिन सच्चे मन से भगवान शिव की पूजा अर्चना करने वालों भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और उनपर भगवान भोले-शंकर की कृपा भी बनी रहती है. इस दिन भोले शंकर के कुछ भक्त काशी और उज्जैन और कुछ स्थानीय मंदिरों में शिवलिंग का अभिषेक करते हैं और कुछ विशेष रुद्राभिषेक का आयोजन भी करवाते हैं. ऐसे में कई बार अगर पहले ही पूरी पूजा सामग्री एक जगह न हो तो पूजा में मुख्य समय पर बाधा पड़ सकती है. ऐसे में बेहद जरूरी है कि महाशिवरात्रि की पूजा से पहले पूजा की सारी सामग्री खरीद ली जाए ताकि बाद में भागदौड़ न करनी पड़े. यहां देखें महाशिवरात्रि पर पूजा सामग्री की पूरी लिस्ट....

महाशिवरात्रि पर पूजा सामग्री की लिस्ट:

गंगाजल:
भगवान शिव की पूजा में गंगा जल का विशेष महत्व है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, मां गंगा भगवान व‌िष्‍णु के चरणों से न‌िकली और भगवान श‌िव की जटा से धरती पर अवतरित हुई हैं. यही वजह है कि अन्य नदियों की अपेक्षा गंगा जी को सबसे पावन माना जाता है. मान्यता है कि गंगा जल से भगवान श‌िव का अभ‌िषेक करने से मन में शान्ति मिलती है.



भगवान शिव को पूजा में धतूरा भी चढ़ाने की परंपरा है.
भगवान शिव को पूजा में धतूरा भी चढ़ाने की परंपरा है.


भांग करें अर्पित:
भोले बाबा को भांग भी विशेष रूप से प्रिय है. धार्मिक ग्रन्थों में इस बात का जिक्र है कि समुद्र मंथन के समय जब भगवान श‌िव ने हलाहल व‌िष का पान क‌िया था तो देवताओं ने उनके उपचार के लिए उन्हें कई जड़ी-बूटियां दी थीं. जिसमें से भांग भी प्रमुख थी. तभी से भगवान शिव को भांग विशेष रूप से प्रिय है.

धतूरा भी है प्रिय:
भगवान शिव को पूजा में धतूरा भी चढ़ाने की परंपरा है. आमतौर पर धतूरे को जहरीला माना जाता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, हलाहल के प्रभाव को खत्म करने के लिए भगवान शिव को जो जड़ी-बूटियां दी गई थीं उनमें से एक धतूरा भी था.

इसे भी पढ़ें: ओशो: तुम्हें खुशी इसलिए अधिक रास आती है क्योंकि... 

इसे भी पढ़ें: February Panchang: यहां देखें फरवरी का पंचांग, जानें महीने के शुभ मुहूर्त, व्रत और त्यौहार की पूरी लिस्ट

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्म से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 20, 2020, 5:49 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,095

     
  • कुल केस

    5,734

     
  • ठीक हुए

    472

     
  • मृत्यु

    166

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,099,679

     
  • कुल केस

    1,518,773

    +813
  • ठीक हुए

    330,589

     
  • मृत्यु

    88,505

    +50
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर