Home /News /dharm /

Makar Sankranti 2022: मकर संक्रांति पर भूलवश भी न करें ये 3 काम, जानें क्या हैं जरूरी कार्य

Makar Sankranti 2022: मकर संक्रांति पर भूलवश भी न करें ये 3 काम, जानें क्या हैं जरूरी कार्य

मकर संक्रांति 2022

मकर संक्रांति 2022

Makar Sankranti 2022: मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा. सूर्य (Sun) का धनु राशि (Sagittarius) से मकर राशि (Capricorn) में प्रवेश 14 जनवरी को हो रहा है. आइए जानते हैं कि मकर संक्रांति के दिन क्या करें और किन कार्यों को नहीं करना चाहिए.

अधिक पढ़ें ...

Makar Sankranti 2022: मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा. सूर्य (Sun) का धनु राशि (Sagittarius) से मकर राशि (Capricorn) में प्रवेश 14 जनवरी को हो रहा है, लेकिन मकर संक्रांति का स्नान और दान 15 जनवरी को ही होगा. मकर संक्रांति के दिन पवित्र नदियों में स्नान करने और सूर्य देव की आराधना करने से पुण्य की प्राप्ति होती है. मकर संक्रां​ति के दिन खिचड़ी खाने और तिल के लड्डू खाने की परंपरा है. तिल की तासीर गर्म होती है. सर्दी के समय में तिल खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है. आइए जानते हैं कि मकर संक्रांति के दिन क्या करें और किन कार्यों को नहीं करना चाहिए.

मकर संक्रांति पर क्या करें

1. मकर संक्रांति के दिन नदियों में स्नान करने की परंपरा है, लेकिन आप इस दिन घर पर भी पानी में काला तिल डालकर स्नान कर सकते हैं.

2. मकर संक्रांति के दिन काले तिल का दान करें. ऐसा करने से शनि देव प्रसन्न होते हैं और शनि दोष, साढ़ेसाती और ढैय्या में राहत मिलता है.

यह भी पढ़ें: मकर संक्रांति पर सूर्य और शनि का मिलन, इस उपाय से पा सकते हैं धन-धान्य

3. मकर संक्रांति के दिन तिल वाला पानी पीने, तिल का लड्डू खाने और तिल का उबटन लगाने की परंपरा है.

4. मकर संक्रांति के अवसर पर​ आपको खिचड़ी खानी चाहिए. इसमें सभी प्रकार की मौसमी सब्जियां पड़ती हैं, जिससे स्वास्थ्य लाभ होता है.

मकर संक्रांति पर क्या न करें

1. मकर संक्रांति के दिन मदिरा पान, तामसिक पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए.

2. मकर संक्रांति के दिन स्नान और दान से पूर्व भोजन नहीं ग्रहण करना चाहिए.

यह भी पढ़ें: इस दिन से खत्म हो रहा है खरमास, जानें जनवरी और फरवरी के शुभ मुहूर्त

3. यदि आपके घर पर कोई भिखारी आया है, तो उसे खाली हाथ न लौटाएं. इस दिन दान अवश्य करें.

मकर संक्रांति के अवसर पर आप अपने अन्य ग्रहों की शांति के लिए भी उपाय कर सकते हैं. स्नान के बाद जिस ग्रह का उपाय करना है, उससे संबंधित वस्तुओं का दान करना चाहिए. इससे उस ग्रह का दोष दूर हो सकता है.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Tags: Dharma Aastha, Lifestyle, Makar Sankranti

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर