Home /News /dharm /

Makar Sankranti 2022: जानें संक्रांत पर गुड़-तिल के लड्डू खाने का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

Makar Sankranti 2022: जानें संक्रांत पर गुड़-तिल के लड्डू खाने का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

संक्रांत पर गुड़-तिल के लड्डू खाने का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

संक्रांत पर गुड़-तिल के लड्डू खाने का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व

Makar Sankranti 2022: मकर संक्रांति के दिन तिल और गुड़ का काफी महत्व होता है. यही वजह है कि इसे तिल संक्रांति भी कहा जाता है. मकर संक्रांति के दिन सिर्फ गुड़ और तिल खाया ही नहीं जाता, बल्कि पानी में तिल डालकर स्नान भी किया जाता है. आइए जानते हैं मकर संक्रांति के दिन गुड़-तिल के लड्डू क्यों खाए जाते हैं. इसका धार्मिक व वैज्ञानिक (religious and scientific) महत्व क्या है.

अधिक पढ़ें ...

Makar Sankranti 2022: मकर संक्रांति हिंदुओं के मुख्य त्यौहारों में से एक है. साल का पहला त्यौहार और दान पुण्य करने की परम्परा के चलते इस त्यौहार (Festival) को अत्यंत महत्वपूर्ण माना जाता है. इस दिन सूर्य धनु राशि को छोड़कर मकर राशि में प्रवेश करते हैं. जिसके चलते मकर संक्रांति योग बनता है. जब सूर्य भ्रमण करते हुए मकर राशि में प्रवेश करते हैं, तब इसे मकर-संक्रांति (Makar Sankranti) कहा जाता है. इस त्यौहार को मुख्य तौर पर उत्तर और मध्य भारत के लोग मनाते हैं. मकर संक्रांति के दिन तिल और गुड़ का काफी महत्व है. जिसकी वजह से इसे तिल संक्रांति भी कहा जाता है. मकर संक्रांति के दिन सिर्फ गुड़ और तिल खाया ही नहीं जाता, बल्कि पानी में तिल डालकर स्नान भी किया जाता है. आइए जानते हैं मकर संक्रांति के दिन गुड़-तिल के लड्डू क्यों खाए जाते हैं. इसका धार्मिक व वैज्ञानिक (religious and scientific) महत्व.

तिल का धार्मिक महत्व
मकर राशि के स्वामी शनि है. शनि सूर्य के पिता हैं. पौराणिक कथाओं के अनुसार शनि और सूर्य पिता पुत्र होने के बाद भी इनकी आपस में कभी नहीं बनती. वहीं मकर संक्रांति वाले दिन सूर्य धनु राशि को छोड़कर मकर राशि में प्रवेश करते हैं. जिसके चलते मकर संक्रांति योग बनता है. इस दिन जब सूर्य देवता शनि के घर प्रवेश करते हैं, तो तिल की उपस्थिति के कारण शनि सूर्य देवता को किसी प्रकार का कष्ट नहीं देते. तिल की उपस्थिति में शनि का कुप्रभाव कम हो जाता है.

इसे भी पढ़ें – जानें हनुमान जी पर सिंदूर का चोला चढ़ाने की वजह और उससे जुड़ी रोचक कहानी

जानते हैं वैज्ञानिक महत्व
तिल में एंटीऑक्‍सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता है. इसके सेवन से स्किन की कोशिकाएं अच्छी रहती हैं. मकर संक्रांति पर्व जिस समय मनाया जाता है, उस समय सर्दी का मौसम रहता है. तिल और गुड़ की तासीर गर्म होती है. इसलिए मकर संक्रांति पर्व पर तिल और गुड़ के लड्डू खाना बहुत ही फायदेमंद होता है. इससे हमारी बॉडी का ब्लड सर्कुलेशन अच्छा रहता है. जिससे हमारे शरीर को गर्मी मिलती है. तिल और गुड़ स्किन और बालों के लिए भी काफी फायदेमंद है. इससे कई बीमारियां भी दूर होती हैं. साथ ही यह शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Tags: Religion

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर