Home /News /dharm /

mangalvar upay glory of hanuman ashtak ki mahima in hindi kee

Lord Hanuman Puja: जानें हनुमान अष्टक की महिमा, हर मंगलवार करें पाठ

ज्योतिष शास्त्र में भी हनुमान अष्टक का पाठ करना बहुत लाभकारी बताया गया है.

ज्योतिष शास्त्र में भी हनुमान अष्टक का पाठ करना बहुत लाभकारी बताया गया है.

भगवान राम के परम भक्त हनुमान को मंगलवार के दिन पूजने का विधान है. यह दिन बजरंगबली की उपासना के लिए सर्वोत्तम माना जाता है. इस दिन भक्त अपने प्रभू की पूजा-अर्चना कर उनका आशीर्वाद प्राप्त करते हैं. हनुमान जी भी अपने सभी भक्तों की हर तरह के संकट से रक्षा करते हैं और उनके दुख हर लेते हैं.

अधिक पढ़ें ...

Lord Hanuman: हिंदू धर्म में मंगलवार का दिन बजरंगबली को समर्पित किया गया है. हनुमान जी को हम सभी संकट मोचन के नाम से भी जानते हैं. धर्म शास्त्रों के अनुसार हनुमान जी भगवान शिव के ही एक अंश हैं. पवन पुत्र अपने भक्तों पर कभी भी संकट नहीं आने देते हैं. हनुमान चालीसा के पाठ के बारे में तो सभी जानते हैं. ऐसा माना जाता है कि हनुमान चालीसा का लगातार पाठ करने से व्यक्ति हर प्रकार की परेशानियों से मुक्ति पाता है, लेकिन हनुमान चालीसा के अतिरिक्त हनुमान जी का एक और पाठ है जिसे हनुमान अष्टक कहा जाता है. ऐसा माना जाता है कि यदि कोई व्यक्ति किसी शत्रु से या किसी प्रकार के भय से विचलित है तो उसे हनुमान अष्टक का पाठ करना चाहिए.

भोपाल के रहने वाले ज्योतिष विज्ञान के जानकार पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा बताते हैं कि ज्योतिष शास्त्र में भी हनुमान अष्टक का पाठ करना बहुत लाभकारी बताया गया है. ऐसा माना जाता है यदि कोई व्यक्ति मंगलवार के दिन हनुमान अष्टक का पूरी श्रद्धा भक्ति और विधिवत पाठ करता है तो वह व्यक्ति को सभी प्रकार के शारीरिक कष्टों से मुक्ति मिल जाती है. हिंदू धर्म शास्त्रों में हनुमान अष्टक के पाठ को लेकर बहुत सी बातें जानने को मिलती हैं, लेकिन धर्म ग्रंथों में हनुमान अष्टक पाठ करने को लेकर कोई विशेष नियम नहीं है. यह पाठ कभी भी और कहीं भी किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें – परिवार में सुख-समृद्धि चाहते हैं, तो गृह प्रवेश के समय रखें वास्तु के इन नियमों का ध्यान

वैसे तो इस पाठ को करने का कोई खास नियम नहीं है, लेकिन यदि आप हनुमान जी के इस पाठ को करना चाहते हैं तो इसके लिए जहां आप पाठ करने वाले हैं वहां हनुमान जी की तस्वीर के साथ भगवान राम का चित्र जरूर लगाएं. इसके बाद भगवान राम और हनुमान जी के सामने घी का दीपक जलाकर तांबे के गिलास या लोटे में जल भरकर रख दें. फिर पूरी श्रद्धा और भक्ति भाव के साथ हनुमान जी का ध्यान करके हनुमान बाहुक का पाठ करें.

यह भी पढ़ें – ग्रहण के दौरान पशु-पक्षी करने लगते हैं अजीबोगरीब व्यवहार, जानें क्या कहते हैं पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा जी

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हनुमान जी की पूजा करते समय जल के साथ हनुमान जी को तुलसी के पत्ते भी अर्पित किए जा सकते हैं. ऐसा माना जाता है कि पाठ पूरा होने के बाद तुलसी के इन पत्तों का सेवन करने से व्यक्ति के सभी शारीरिक और मानसिक कष्टों का अंत हो जाता है.

Tags: Dharma Aastha, Lord Hanuman, Religion

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर