• Home
  • »
  • News
  • »
  • dharm
  • »
  • MASIK SHIVRATRI 2021 WORSHIP LORD SHIVA WITH THESE POWERFUL MANTRAS PUR

Masik Shivratri 2021: मासिक शिवरात्रि पर इन शक्तिशाली मंत्रों से करें भगवान शिव की पूजा, दूर होंगे कष्ट

शिव गायत्री मंत्र बहुत ही प्रभावशाली और शक्तिशाली मंत्र माना जाता है.

Masik Shivratri 2021: भगवान शिव (Lord Shiva) की पूजा के दौरान मंत्रों के जाप का विशेष महत्व बताया गया है. मान्यता है कि इन मंत्रों का पाठ करने से जीवन में सुख-शांति, धन-समृद्धि, सफलता, प्रगति और संतान की प्राप्ति होती है.

  • Share this:
    Masik Shivratri: आज मासिक शिवरात्रि का व्रत है. यह ज्येष्ठ माह की शिवरात्रि है. भक्तों ने आज भगवान शिव (Lord Shiva) को प्रसन्न करने के लिए व्रत रखा है और उनकी पूजा अर्चना कर रहे हैं. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, माता लक्ष्मी, मां सरस्वती, गायत्री, सीता, पार्वती जैसे देवियों ने भी मासिक शिवरात्रि का व्रत किया था जिससे उनके जीवन का उद्धार हो सके. मासिक शिवरात्रि के दिन व्रत और पूजा करने से व्यक्ति को सुख और शांति की प्राप्ति होती है. साथ ही संतान प्राप्ति, रोगों से मुक्ति पाने के लिए भी इस दिन उपवास किया जाता है. माना जाता है कि यह पर्व क्रोध, ईर्ष्या, अभिमान और लालच जैसी भावनाओं पर काबू पाने में मदद करता है. भगवान शिव की पूजा के दौरान मंत्रों के जाप का विशेष महत्व बताया गया है. मान्यता है कि इन मंत्रों का पाठ करने से जीवन में सुख-शांति, धन-समृद्धि, सफलता, प्रगति और संतान की प्राप्ति होती है. आज मासिक शिवरात्रि के दिन भगवान शिव के प्रभावशाली मंत्रों का जाप करना शुभ माना जाता है. आइए जानते हैं भगवान शिव के शक्तिशाली मंत्रों के बारे में.

    महामृत्युंजय मंत्र

    ॐ हौं जूं स: ॐ भूर्भुव: स्व: ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।
    उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ॐ स्व: भुव: भू: ॐ स: जूं हौं ॐ।।

    शिवपुराण के अनुसार इस मंत्र के जाप से आदिगुरु शंकराचार्य को भी जीवन की प्राप्ति हुई थी.

    इसे भी पढ़ेंः Masik Shivratri Katha: मासिक शिवरात्रि आज, भगवान शिव को खुश करने के लिए पढ़ें कथा

    रुद्र गायत्री मंत्र

    ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्रः प्रचोदयात्॥

    शिव गायत्री मंत्र बहुत ही प्रभावशाली और शक्तिशाली मंत्र माना जाता है. मान्यता है कि प्रतिदिन इस मंत्र का जाप करने से सभी समस्याएं दूर हो जाती हैं.

    भगवान शिव के प्रिय मंत्र

    -ॐ नमः शिवाय

    -नमो नीलकण्ठाय

    -ॐ पार्वतीपतये नमः

    -ॐ ह्रीं ह्रौं नमः शिवाय

    -ॐ नमो भगवते दक्षिणामूर्त्तये मह्यं मेधा प्रयच्छ स्वाहा

    इसे भी पढ़ेंः भोलेशंकर की पूजा के बाद पढ़ें शिव चालीसा, बरसेगा मृत्युंजय महाकाल का आशीर्वाद

    मंत्र के जाप करने के नियम

    -मंत्र का जाप सुबह और शाम के समय करना चाहिए.

    -संकट के समय कभी भी इस मंत्र का जाप किया जा सकता है.

    -मंत्रों का जाप रुद्राक्ष की माला के साथ करना बेहतर माना गया है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
    Published by:Purnima Acharya
    First published: