Masik Shivratri: पूजा-अर्चना से महादेव होंगे प्रसन्‍न, दूर होंगे सूर्य ग्रहण के नकारात्‍मक प्रभाव

Masik Shivratri: पूजा-अर्चना से महादेव होंगे प्रसन्‍न, दूर होंगे सूर्य ग्रहण के नकारात्‍मक प्रभाव
सूर्य ग्रहण के पूर्व मासिक शिवरात्रि का होना काफी महत्‍वपूर्ण है.

आज के दिन व्रत रख कर भगवान शिव (Lord Shiva) की पूजा की जाए, तो इससे सूर्य ग्रहण के पड़ने वाले नकारात्मक प्रभावों (Negative Effects) को कम किया जा सकता है.

  • Share this:
Masik Shivratri: आज यानी 19 जून को मासिक शिवरात्रि है. सूर्य ग्रहण के पूर्व मासिक शिवरात्रि का होना काफी महत्‍वपूर्ण है. अगर आज के दिन व्रत रख कर भगवान शिव (Lord Shiva) की पूजा की जाए, तो इससे सूर्य ग्रहण के पड़ने वाले नकारात्मक प्रभावों (Negative Effects) को कम किया जा सकता है. मासिक शिवरात्रि को शिव और शक्ति के तौर पर देखा जाता है. पंचांग के अनुसार हर महीने कृष्ण पक्ष के 14 वें दिन मासिक शिवरात्रि मनाते हैं. मासिक शिवरात्रि का व्रत प्रत्येक महीने में पड़ता है. मासिक शिवरात्रि को शिव और शक्ति के रूप में देखा जाता है.

मासिक शिवरात्रि अपनी इंद्रियों को नियंत्रित करने का सबसे उपयुक्त अवसर है. आज के दिन अगर व्रत रखा जाए, तो यह भगवान शिव की भक्ति के लिए सबसे प्रभावशाली समझा जाता है. इस दिन व्रत रखने से सकारात्मक ऊर्जा में वृद्धि होती है. मन शांत होता है और व्‍यक्ति निरोग रहता है. साथ ही क्रोध, ईर्ष्‍या, अभिमान और लोभ से भी मुक्ति मिलती है. मान्यता है कि जो व्‍यक्ति आज के दिन इस व्रत को रखता है और महादेव की सच्चे मन से आराधना करता है, तो इससे भगवान शिव प्रसन्‍न हो जाते हैं और व्‍यक्ति की मनोमनाएं पूरी होती हैं.

इस व्रत को लेकर मान्‍यता यह भी है कि इसे रखने से उपयुक्‍त वर मिलता है, इसलिए कन्याएं मनोवांछित वर पाने के लिए यह व्रत रखती है. इस व्रत को रखने से विवाह संबंधी बाधाएं दूर हो जाती हैं. इस व्रत को महिलाओं के अलावा पुरुष भी रख सकते हैं. शिव पुराण के अनुसार इस व्रत को सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाला माना गया है.



भगवान की पूजा-अर्चना का शुभ समय
यह 24 बजकर 02 मिनट से 24 बजकर 43 मिनट तक रहेगा. वहीं सूर्यास्त का समय 19 बजकर 22 मिनट तक है. इसके अलावा पंचांग के अनुसार आज मासिक शिवरात्रि को धृति योग बन रहा है. यह 14 बजकर 53 मिनट तक रहेगा. इसके अलावा त्रियोदशी तिथि का समय 11 बजकर 01 मिनट तक है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज