• Home
  • »
  • News
  • »
  • dharm
  • »
  • Vaishno Devi Yatra Guidelines: मां वैष्‍णो देवी की यात्रा शुरू, इन नियमों का पालन जरूरी 

Vaishno Devi Yatra Guidelines: मां वैष्‍णो देवी की यात्रा शुरू, इन नियमों का पालन जरूरी 

कटरा से ही वैष्णो देवी की पैदल चढ़ाई शुरू होती है जो भवन तक करीब 13 किलोमीटर और भैरो मंदिर तक 14.5 किलोमीटर है.

Vaishno Devi Yatra Guidelines: इस बार की मां वैष्‍णो देवी की यात्रा (Mata Vaishno Devi Yatra 2020) कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से कुछ अलग है. इस बार यात्रा पर जाने वाले भक्‍तों के लिए कुछ गाइडलाइंस (Guidelines) जारी की गई हैं, ताकि इसमें शामिल होने वाले भक्‍तों का संक्रमण से बचाव रहे.

  • Share this:
    मां वैष्णो देवी की पावन यात्रा (Vaishno Devi Yatra) 16 अगस्त से शुरू हो गई है. जम्मू कश्मीर में स्थित मां वैष्णो के धाम में हर साल मां के भक्तों की भीड़ उनके दर्शन के लिए पहुंचती है. हालांकि इस बार कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण की वजह से वैष्णो देवी की यात्रा बंद कर दी गई थी. अब इस पावन यात्रा को श्रद्धालुओं के लिए 16 अगस्त, रविवार से एक बार फिर शुरू किया गया है. ऐसे में कोरोना वायरस से बचाव के लिए मां वैष्णो देवी की यात्रा पर आने वाले भक्‍तों के लिए कुछ विशेष दिशा-निर्देश (Guidelines) जारी किए गए हैं. इन नियमों के पालन के बाद ही भक्‍तों को इस यात्रा की अनुमति दी जाएगी. अगर आप भी इस बार वैष्णो देवी की यात्रा पर जा रहे हैं, तो इन नियमों को जरूर जान लें.

    एक दिन में 5000 तीर्थ यात्री करेंगे दर्शन
    इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से एक दिन में सिर्फ 5000 तीर्थ यात्रियों को ही इस यात्रा में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी. वहीं तय समय में ही दर्शन करके भक्‍तों को वापस भी आना होगा. इसके अलावा भक्‍त इस बार मां वैष्णो के भवन में भी नहीं रुक पाएंगे. दरअसल, ये सारी एहतियात कोरोना के संक्रमण से भक्‍तों के बचाव के लिए की जा रही हैं.

    बाहरी राज्यों के 500 तीर्थ यात्री हो सकेंगे शामिल
    इस बार मां वैष्‍णो देवी की यात्रा के लिए बाहरी राज्यों से आने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए नियमों में थोड़ा बदलाव किया गया है. यानी इस बार एक दिन में बाहरी राज्‍यों के सिर्फ 500 तीर्थ यात्री ही दर्शन कर पाएंगे. एक दिन में कुल 5000 तीर्थ यात्रियों को मां के दर्शन करने की अनुमति दी जाएगी. इसमें 4500 तीर्थ यात्री जम्मू-कश्मीर के होंगे और 500 बाहरी राज्यों के होंगे.

    बच्चों और बुजुर्गों को यात्रा की मनाही  
    कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए इस बार मां वैष्णो देवी की यात्रा में 10 साल से कम उम्र के बच्चों को यात्रा करने की अनुमति नहीं दी गई है. इस बार की यात्रा के लिए 10 साल से कम उम्र के बच्‍चों के अलावा 60 साल से अधिक उम्र के लोगों और गर्भवती महिलाओं को भी यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जा रही है.

    ये भी पढ़ें - Vaishno Devi Yatra Start: कोरोना काल में वैष्णो देवी यात्रा जाते समय इन बातों का रखें ख्याल

    यात्रा में मास्‍क पहनना होगा जरूरी
    इस बार की यात्रा में शामिल भक्‍तों को अपने चेहरे पर मास्‍क लगाना जरूरी होगा, ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव रहे. जो लोग इस यात्रा में मास्‍क नहीं पहनेंगे उन्‍हें इसमें शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज