अपना शहर चुनें

States

Mattu Pongal 2021: पोंगल का तीसरा दिन आज, पढ़ें मट्टू पोंगल की कथा

मट्टू पोंगल की कथा पढ़ें (photo credit: instagram/hindu_samrajya._)
मट्टू पोंगल की कथा पढ़ें (photo credit: instagram/hindu_samrajya._)

Mattu Pongal 2021: प्राचीन काल में एक बार ऐसा हुआ था कि नंदी से कोई भूल हो गई थी और भोलेनाथ उनसे रुष्ट हो गए थे. शिव जी ने नंदी को दंडित करने का निश्चय किया...

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 16, 2021, 1:33 PM IST
  • Share this:
Mattu Pongal 2021: आज पोंगल (Mattu pongal 2021) का तीसरा दिन है. इसे मट्टू पोंगल कहा जाता है. इस दिन पूरा परिवार साथ एकत्र होकर स्वादिष्ट भोजन का लुत्फ़ उठाता है. पोंगल का त्योहार सूर्य और इंद्रदेव को समर्पित माना जाता है. यही वजह है कि इस त्योहार में इन्द्रदेव और सूर्यदेव की पूजा अर्चना होती है. पोंगल मुख्य रूप से किसानों का त्योहार है. पोंगल पर अच्छी फसल की पैदावार के लिए किसान सूर्य और इंद्रदेव को धन्यवाद कहते हैं. साथ ही इस दिन नंदी रूप में बैलों की पूजा भी की जाती है और इंद्रदेव से अच्छी बारिश के लिए किसान प्रार्थना करते हैं.

मट्टू पोंगल कथा:

पौराणिक कथाओं के अनुसार, प्राचीन काल में एक बार ऐसा हुआ था कि, एक बार भगवान शिव ने नंदी बैल से कहा कि वो पृथ्वी पर जाकर मनुष्यों को संदेश दें कि वो महीने में केवल एक बार ही खाना खाएं लेकिन तेल से रोज मालिश करें और स्नान करें. नंदी ने पृथ्वीवासियों से जाकर कहा कि रोज खाना खाओ और महीने में एक दिन मालिश करो.



Also Read: Mattu Pongal 2021: मट्टू पोंगल आज, जानें त्योहार से जुड़ी दिलचस्प बातें
भगवान शिव नंदी पर क्रोधित हो गए कि तुमने मनुष्यों को मेरा संदेश उलटा दिया है. इस वजह से उन्होंने कहा कि अब तुम्हें पृथ्वी पर ही रहना होगा और लोगों के खेत जोतने होंगे ताकि वो अधिक अनाज उपजा सकें. इसी की याद में आज के दिन मट्टु पोंगल का पर्व मनाया जाता है. ऐसा माना जाता है कि तभी से नंदी पृथ्वी पर रहकर कृषि कार्य में मनुष्य की अन्न उपजाने में मदद कर रहा है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज