होम /न्यूज /धर्म /Mokshada Ekadashi 2022: रवि योग में है मोक्षदा एकादशी, लगा है पंचक और भद्रा भी, सर्वार्थ सिद्धि योग में पारण

Mokshada Ekadashi 2022: रवि योग में है मोक्षदा एकादशी, लगा है पंचक और भद्रा भी, सर्वार्थ सिद्धि योग में पारण

इस साल मोक्षदा एकादशी पर भद्रा और पंचक भी हैं.

इस साल मोक्षदा एकादशी पर भद्रा और पंचक भी हैं.

Mokshada Ekadashi 2022: इस साल मोक्षदा एकादशी 03 दिसंबर शनिवार को है. मोक्षदा एकादशी पर रवि योग बना हुआ है. इस दिन पंचक ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

इस दिन मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि है.
जो लोग 03 दिसंबर को मोक्षदा एकादशी व्रत रखेंगे, वे 04 दिसंबर को पारण करेंगे.

Mokshada Ekadashi 2022: इस साल मोक्षदा एकादशी 03 दिसंबर शनिवार को है. इस दिन मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि है. मोक्षदा एकादशी पर रवि योग बना हुआ है. इस दिन पंचक और भद्रा का भी साया है, लेकिन भद्रा शाम के समय में लग रही है. ऐसे में आप सुबह में पूजा पाठ कर लेंगे. अगले दिन दोपहर में पारण करने का शुभ समय प्राप्त है. इस दिन पूरे समय सर्वार्थ सिद्धि योग बना हुआ है. केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र से जानते हैं मोक्षदा एकादशी पर बनने वाले योग और संयोग के बारे में.

मोक्षदा एकादशी 2022 मुहूर्त
मोक्षदा एकादशी की तिथि की शुरूआत: 03 दिसंबर, सुबह 05 बजकर 39 मिनट से
मोक्षदा एकादशी की तिथि की समाप्ति: 04 दिसंबर, सुबह 05 बजकर 34 मिनट पर
पूजा शुभ समय: 03 दिसंबर, सुबह 09:28 बजे से दोपहर 01:27 मिनट त​क
अभिजित मुहूर्त: सुबह 11 बजकर 50 मिनट से दोपहर 12 बजकर 32 मिनट तक
रवि योग: 03 दिसंबर, सुबह 07 बजकर 04 मिनट से 04 दिसंबर, सुबह 06 बजकर 16 मिनट तक

ये भी पढ़ें: कब है मोक्षदा एकादशी, गीता जयंती, खरमास? जानें दिसंबर के व्रत-त्योहार

मोक्षदा एकादशी 2022 भद्रा और पंचक
इस साल मोक्षदा एकादशी पर भद्रा और पंचक भी हैं. 03 दिसंबर को भद्रा शाम 05 बजकर 33 मिनट से अगले दिन 04 दिसंबर को सुबह 05 बजकर 34 मिनट तक है. मोक्षदा एकादशी के दिन पंचक सुबह 06 बजकर 58 मिनट से अगले दिन 04 दिसंबर को सुबह 06 बजकर 16 मिनट तक है.

मोक्षदा एकादशी पर भद्रा शाम के समय में है, जबकि पंचक सुबह से ही लग रहा है. पंचक में पूजा पाठ की मनाही नहीं होती है. हालांकि इस दिन अग्नि पंचक है तो यज्ञ, हवन और नए चूल्हे को जलाने से परहेज करना चाहिए.

ये भी पढ़ें: बालों में छुपा है इंसान के व्यक्तित्व का राज, इस तरह लगाएं पता

सर्वार्थ सिद्धि योग में मोक्षदा एकादशी का पारण
जो लोग 03 दिसंबर को मोक्षदा एकादशी व्रत रखेंगे, वे 04 दिसंबर को पारण करेंगे. इस दिन पारण का समय दोपहर 01 बजकर 14 मिनट से दोपहर 03 बजकर 19 मिनट तक है. इस दिन पूरे समय सर्वार्थ सिद्धि योग है. इस दिन आप स्नान और दान के बाद पारण पूर्व भगवान विष्णु से अपने मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए प्रार्थना करें. सर्वार्थ सिद्धि योग में किए गए कार्य सफल होते हैं.

मोक्षदा एकादशी 2022 चौघड़िया मुहूर्त
शुभ-उत्तम समय: सुबह 08:16 बजे से सुबह 09:34 बजे तक
चर-सामान्य समय: दोपहर 12:11 बजे से दोपहर 01:29 बजे तक
लाभ-उन्नति: दोपहर 01:29 बजे से दोपहर 02:47 बजे तक
अमृत-सर्वोत्तम: दोपहर 02:47 बजे से शाम 04:06 बजे तक

Tags: Dharma Aastha, Lord vishnu

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें