Muharram 2020, Messages, Quotes: जन्नत तो करबाला में खरीदी हुसैन ने, मुहर्रम पर भेजें ये संदेश

Muharram 2020, Messages, Quotes: जन्नत तो करबाला में खरीदी हुसैन ने, मुहर्रम पर भेजें ये संदेश
मुहर्रम विशेज मुहर्रम कुर्बानी विशेज

मुहर्रम (Muharram, Messages, Quotes): मुहर्रम (Muharram) में इन ख़ास संदेशों को अपने करीबियों, रिश्तेदारों और दोस्तों को जरूर भेजें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 29, 2020, 6:31 PM IST
  • Share this:
मुहर्रम (Muharram, Messages, Quotes): Muharram 2020 Date in India: आज यानी शनिवार को मुहर्रम मनाया जा रहा है. बता दें कि शिया समुदाय के मुस्लिम मुहर्रम को गम के रूप में मनाते हैं. इस दिन इमाम हुसैन और उनके अनुयायियों की शहादत को याद किया जाता है. मुहर्रम पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब के 72 साथियों के शहादत की याद में मनाया जाता है. इस साल मुहर्रम (Muharram) में इन ख़ास संदेशों को अपने करीबियों, रिश्तेदारों और दोस्तों को भेजें.

1. फिर आज हक के लिए, फिर आज हक के लिए जान फिदा करे कोई

वफा भी झूम उठे यूं, वफा करे कोई,



नमाज 1400 सालों से इंतजार में है,
हुसैन की तरह मुझ को अदा करे कोई.

इसे भी पढ़ें: Muharram 2020: आखिर क्यों मुहर्रम है मातम का जश्न, जानें मुहर्रम का इतिहास

2. आंखों को कोई ख्वाब,

आंखों को कोई ख्वाब तो दिखाई दे,

तसबरा में इमाम का जलवा दिखाई दे,

ऐ इब्न-ए-मुर्तज़ा तेरे सामने सूरज भी एक छोटा सा जर्रा दिखाई दे.

3. जन्नत की आरजू में कहां जा रहे हैं लोग,

जन्नत तो करबाला में खरीदी हुसैन ने,

दुनिया-ओ-आंखिरत में जो रहना हो चैन से

जीना अली से सीखो मरना हुसैन से.

4. कर्बला वालों का गम

करबला वालों का गम घर घर में मनाया जाएगा

मक्सद-ए-शबीर आलम को बताया जाएगा

याद कर के जो ना रोया करबला वालों की प्यास

कब्र से तिश्ना वो मेहशर में उठाया जाएगा,

5. सजदे से कर्बाला को बंदगी मिल गई

सबर से उम्मत को जिंदगी मिल गई,

एक चमन फतीमा का उजड़ा मगर

सारे इस्लाम को जिंदगी मिल गई.

6. तेरे दिल में कैसी गिरह पड़ी

तेरे दिल में कैसी गिरह पड़ी तुझे उससे इतना हसद है क्यों,

जो नबी की आंख का नूर है, जो अलि की रूह का चैन है,

कभी देख अपने खामीर में, कभी पूछ अपने जमीर से,

वो जो मिट गया वो यजीद था, जो ना मिट सका वो हुसैन था

7. यूं ही नहीं चर्चा हुसैन का,

कुछ देख के हुआ था जमाना हुसैन का

सर दे के दो जहां की हुकूमत खरीद ली

महंगा पड़ा यजीद को सौदा हुसैन का.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज