लाइव टीवी

नवरात्र 2019: इस मंदिर में मां के श्रृंगार के लिए दक्षिण भारत से मंगाए जाते हैं फूल

News18Hindi
Updated: September 29, 2019, 4:20 PM IST
नवरात्र 2019: इस मंदिर में मां के श्रृंगार के लिए दक्षिण भारत से मंगाए जाते हैं फूल
नवरात्र 2019: इस मंदिर में मां श्रृंगार के लिए दक्षिण भारत से मंगाए जाते हैं फूल

नवरात्र 2019 (Shardiya Navratri 2019): दिल्ली का सिद्ध छतरपुर या श्री आद्या कात्‍यायनी शक्तिपीठ दिल्ली के प्राचीनतम मंदिरों में से एक है. आइए जानते हैं इस मंदिर से जुड़ी बेहद ख़ास बातें...

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2019, 4:20 PM IST
  • Share this:
नवरात्र 2019 (Shardiya Navratri 2019): आज नवरात्र का पहला दिन है. आज भक्तों ने व्रत रखने के साथ मां शैलपुत्री की पूजा कर नवरात्र व्रत की शुरुआत की है. शाम को मां के मंदिर में भी भक्तों की भारी भीड़ लगेगी. ऐसे में आज हम आपको बताते हैं दिल्ली के सिद्ध छतरपुर मंदिर या श्री आद्या कात्‍यायनी शक्तिपीठ मंदिर के बारे में. यह मंदिर दक्षिण दिल्‍ली के छतरपुर इलाके में स्थित है. इस मंदिर का क्षेत्रफल काफी लंबा चौड़ा है. यह मंदिर 70 एकड़ के परिसर में बना हुआ है. बता दें कि यह दिल्ली के प्राचीनतम मंदिरों में से एक है. आइए जानते हैं इस मंदिर से जुड़ी बेहद ख़ास बातें...

दक्षिण भारत से मंगाए जाते हैं फूल:
दिल्ली के छतरपुर मंदिर में मां कात्यायनी की पूजा अर्चना होती है. मां कात्यायनी नव दुर्गा का छठा स्वरूप हैं. मंदिर में कई तरह के रंग बिरंगे फूलों और मालाओं से मां का श्रृंगार किया जाता है. सबसे ख़ास बात यह कि मां के श्रृंगार के लिए इन फूलों को ख़ास तौर से दक्षिण भारत से मंगवाया जाता है.

इसे भी पढ़ेंः  बस करें ये काम, टूटेगी नकारात्मकता, मुस्कुराएंगे आप

ऐसा है मंदिर परिसर:
मंदिर में दक्षिण भारतीय वास्तुकला की अद्भुत झलक देखने को मिलती है. पूरे मंदिर में सफ़ेद मार्बल लगा हुआ है. मंदिर परिसर में कई तरह के खूबसूरत पेड़-पौधे भी लगे हुए हैं. यह मंदिर परिसर 70 एकड़ में फैला है.

इसे भी पढ़ेंः  शोध में आया सामने आखिर क्यों पुरुषों की तुलना में महिलाओं का वेतन होता है कम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए यात्रा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 29, 2019, 4:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...