लाइव टीवी

नवरात्रि २०१९,नवमी: आज इस सटीक मुहूर्त में करें सिद्धिदात्री मां की पूजा, मिलेंगी गुप्त सिद्धियां

News18Hindi
Updated: October 7, 2019, 6:38 AM IST
नवरात्रि २०१९,नवमी: आज इस सटीक मुहूर्त में करें सिद्धिदात्री मां की पूजा, मिलेंगी गुप्त सिद्धियां
मां सिद्धिदात्री पूजा विधि

नवरात्रि २०१९, नवरात्रि नवमी तिथि, Navratri 2019, Durga Navami: भगवान शिव ने अर्द्धनारीश्वर की सिद्धियां पाने के लिए मां सिद्धिदात्री की तपस्या की थी. पढ़िए कैसी है मां की महिमा...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2019, 6:38 AM IST
  • Share this:
नवरात्रि २०१९, नवरात्रि नवमी तिथि, Navratri 2019: आज नवरात्रि का 9वां दिन है. आज मां नव दुर्गा के आठवें रूप मां सिद्धिदात्री की पूजा अर्चना की जाती है. धार्मिक मान्यता के अनुसार, मां का यह स्वरुप सिद्धि प्रदान करने वाला है. मां के इस रूप की पूजा करने वाले भक्तों को हर काम में सफलता मिलती है और बाधाएं दूर हो जाती है. यहां तक कि देवों के देव महादेव भगवान शिव ने भी सिद्धि की प्राप्ति के लिए मां सिद्धिदात्री की पूजा अर्चना की थी. नवरात्रि की नवमी के दिन लोग कन्याओं के पूजन के बाद अपने व्रत का पारण करते हैं. हालांकि कुछ लोग अष्टमी को ही व्रत खोल लेते हैं. आइए जानते हैं कैसा है मां का स्वरुप और नवमी का शुभ समय...

नवमी शुभ मुहूर्त (Mahanavami Shubh Muhurt 2019):
नवमी तिथि शुरू: 06 अक्टूबर २०१९ को 10: 54 am से
नवमी का समापन: 07 अक्टूबर २०१९ को 12:38 pm पर.

नवमी अभिजीत मुहूर्त: 7 अक्टूबर को प्रातः 11:46 से दोपहर 12:32 तक.
नवमी तिथि अमृत काल मुहूर्त: सुबह 10:24 से दोपहर 12:10 तक.

मां का स्वरुप:
Loading...

लाल रंग की साड़ी धारण किए सिंह पर सवार मां का स्वरुप काफी तेजवान है. मां के हाथों में कमल, शंख, गदा और सुदर्शन चक्र है. मां की पूजा करने वाले साधकों को सभी सिद्धियों की प्राप्ति होती है.

इसे भी पढ़ेंः  Navratri 2019: करणी माता मंदिर का जरूर करें दर्शन, मिलता है चूहों का जूठा प्रसाद

धार्मिक मान्यता:
देवीपुराण में इस बात का उल्लेख है कि भगवान शिव ने सिद्धियां प्राप्त करने के लिए मां सिद्धिदात्री का तप किया तब जाकर कहीं उनका आधा शरीर स्त्री का हुआ. देवी के आशीर्वाद की वाजः से ही भगवान शिव अर्द्धनारीश्वर कहलाये.

इसे भी पढ़ेंः Navratri 2019: महाष्टमी पर करीबियों को भेजें ये Greetings, Navratri SMS

मां सिद्धिदात्री का मंत्र:
या देवी सर्वभू‍तेषु सिद्धिरूपेण संस्थिता, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमो नम:.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्म से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 6:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...