होम /न्यूज /धर्म /आखिर क्यों पैरों में सोने के आभूषण पहनना होता है वर्जित, जानिए इसका कारण

आखिर क्यों पैरों में सोने के आभूषण पहनना होता है वर्जित, जानिए इसका कारण

धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व के अनुसार कमर के नीचे नहीं पहनने चाहिए सोने की चीजें

धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व के अनुसार कमर के नीचे नहीं पहनने चाहिए सोने की चीजें

सोना या स्वर्ण धातु को हिंदू धर्म में शुभ माना जाता है. सोना पहनना भारतीय संस्कृति का अभिन्न अंग माना जाता है. स्त्री औ ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

पैरों में नहीं पहनने चाहिए सोने धातु से निर्मित आभूषण.
धार्मिक परंपरा में वर्जित होता है पैर में सोने के जेवर पहनना.
नाभि या कमर के नीचे नहीं पहनने चाहिए सोने के आभूषण.

सोना, चांदी, हीरे और मोती जैसे जेवरात पहनने की परंपरा प्राचीन समय से ही चली आ रही है. स्त्री और पुरुष दोनों ही सोने के जेवरात पहनते हैं, लेकिन खासकर महिलाएं और सुहागन स्त्रियां सोने-चांदी से बने आभूषण अधिक पहनती है. लेकिन, सोने धातु से निर्मित जेवरात पैरों में पहनना वर्जित माना जाता है. सोने से बने जेवरों को सिर से लेकर कमर तक ही पहना जा सकता है. धनी से धनी लोग भी पैरों में सोने के जेवर नहीं पहनते. क्या आप जानते हैं कि आखिर क्यों सोने से बने जेवरों को पैरों में पहनना होता है वर्जित. दिल्ली के आचार्य गुरमीत सिंह जी से जानते हैं इससे जुड़े कारणों के बारे में.

पैर में सोना न पहनने से जुड़े धार्मिक कारण
पैरों में लोग पायल या बिछिया पहनते हैं, जो कि आमतौर पर चांदी धातु के बने होते हैं. इन्हें कभी भी सोने धातु के नहीं पहनना चाहिए. इसे लेकर धार्मिक मान्यता है कि भगवान श्रीहरि विष्णु को सोना अत्यंत प्रिय होता है, इसलिए इसे नाभि या कमर से नीचे नहीं पहनना चाहिए. यदि आप पैरों में सोना पहनते हैं तो इससे भगवान विष्णु नाराज होते हैं. भगवान विष्णु की तरह ही माता लक्ष्मी जी को भी सोना अत्यंत प्रिय होता है. माना जाता है कि पैरों में सोना पहनने वाला व्यक्ति मां लक्ष्मी की कृपा से वंचित रह जाता है और उसे आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ता है.

यह भी पढ़ेंः Astrology: क्या आप जानते हैं कौन सी राशियां हैं आपकी मित्र या शत्रु?

पैर में सोना न पहनने से जुड़े वैज्ञानिक कारण
हिंदू धर्म से जुड़ी ऐसी कई मान्यताएं और परंपराएं हैं, जिनका वैज्ञानिक कारण भी है. इन्हीं में एक है पैर में सोना न पहनना. पैरों में सोना न पहनने को वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी सही माना गया है. इसके अनुसार, मानव की शारीरिक बनावट ऐसी है, जिसमें शरीर के ऊपरी भाग को ठंडक और निचले हिस्से को गर्माहट ही ज़रूरत होती है. सोने के आभूषण शरीर में गर्मी को बढ़ाते हैं. ऐसे में यदि आप पैरों में सोने के बने जेवर पहनते हैं तो इससे आपके शरीर को नुकसान हो सकता है, इसलिए पैरों में चांदी के आभूषण पहने जाते हैं, जिससे कि शरीर का तापमान संतुलित रहे.

Tags: Dharma Aastha, Religious

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें