होम /न्यूज /धर्म /मानसिक अशांति, शारीरिक व्याधियों से मुक्ति दिलाए पारद शिवलिंग, मिलता है भगवान शिव का आशीर्वाद

मानसिक अशांति, शारीरिक व्याधियों से मुक्ति दिलाए पारद शिवलिंग, मिलता है भगवान शिव का आशीर्वाद

पारद शिवलिंग से होगी हर मनोरथ पूरी. Image-Canva

पारद शिवलिंग से होगी हर मनोरथ पूरी. Image-Canva

भगवान शिव का पूजन कर आप सभी मनचाहा वरदान पा सकते हैं, क्योंकि सनातन धर्म में ये मान्यता है कि जहां पारद शिवलिंग का पूजन ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

पारद शिवलिंग से होगी हर मनोरथ पूरी.
रावण ने भी की थी पारद शिवलिंग की पूजा.
पारा औऱ चांदी के मिश्रण से बना है पारद शिवलिंग.

शिव अनंत हैं और जब उन्हें पूजा जाए तो आपकी भी अनंत समस्याओं का हल हो सकता है. सनातन धर्म में भगवान शिव को सर्वस्व माना गया है साथ ही सरल माना गया है. सोमवार का दिन भगवान शिव का दिन है और भक्तों को इस दिन का संपूर्ण लाभ लेना चाहिए. समूचे लोक में माना गया है कि इस दिन शिवलिंग पर जल चढ़ाने और उसके पूजन से लोगों के सभी मनोरथ पूरे हो जाते हैं.

समूचे भारत वर्ष में कई ज्योतिर्लिंग हैं, जिनकी अलग-अलग मान्यताएं हैं. लेकिन, क्या आप जानते हैं कि एक एसा भी शिवलिंग है, जिसकी पूजा कर आप मनचाहे फल पा सकते हैं. तो चलिए आपको आज बताते हैं पारद शिवलिंग के बारे में. कानपुर के राज नारायण पंडित जी बताते हैं, धर्म के अनुसार इस शिवलिंग के बारे में ये मान्यता है कि  यदि सोमवार को पूर्ण साधना और समर्पण के साथ पारद शिवलिंग की पूजा अर्चना की जाए तो पूजने वाले के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं.

यह भी पढ़ें- Navratri 2022: इस साल कई शुभ संयोगों में है शारदीय नवरात्रि, पूरे 09 दिन होगी मां दुर्गा की पूजा

-पारद शिवलिंग अन्य शिवलिंग से थोड़ा अलग होता है. जहां एक ओर बाकी शिवलिंग कीमती पत्थरों से बना होता है तो वहीं पारद शिवलिंग इनसे इतर पारद औऱ चांदी के मिश्रण से बना होता है. इस बहुमूल्य शिवलिंग के बारे में मान्यता ये है कि इस शिवलिंग को देवताओं का वरदान प्राप्त है और ये विशेष रूप से मानव कल्याण हेतु निर्मित है.

 

-पारे से निर्मित इस शिवलिंग के पास रहना इसकी पूजा अर्चना करना एक विशेष सौभाग्य ही है. पारे से निर्मित इस शिवलिंग के बारे में विशेष मान्यता ये है कि, जो व्यक्ति पारद लिंग की भक्ति-भावना के साथ पूजा करता है, उसे तीनों लोकों में विशेष स्थान और आशीर्वाद मिलता है. इसकी पूजा से धन-धान्य में बढोत्तरी, आरोग्य वरदान, ज्ञान और अकूत  ऐश्वर्य आदि प्राप्त होते हैं.

-मान्यता ये भी है कि इसके पूजन से आपको ना केवल भगवान शिव-पार्वती का आशीर्वाद मिलता है, बल्कि आपके बिगड़े हुए ग्रह-दोष, पाप-कर्म भी कटते हैं. आपको जानकर ये भी हैरानी होगी कि कई ग्रंथों में इसका भी विवरण है कि लंकापति रावण ने भी पारद शिवलिंग के पूजन से ही भगवान शिव को मोह लिया था और मनचाहा वर प्राप्त किया था.

यह भी पढ़ें- Navratri 2022: कब से प्रारंभ हो रही है नवरात्रि? जानें कलश स्थापना का मुहूर्त

-इस शिवलिंग की पूजा के बारे में ये भी खास है कि  आपको जितना फल करोड़ों शिवलिंग की पूजा से मिलता है, उससे करोड़ों ज्यादा गुना फल सिर्फ एक पारद लिंग की पूजा से ही प्राप्त होता है. इसके दर्शन मात्र से ही आपके पाप नष्ट हो जाते हैं. इसके साथ ही बड़े बड़े धर्माचार्यों का मत है कि जिस घर में प्राण-प्रतिष्ठा पारद शिवलिंग रहता है, उस घर से जुड़े सारे वास्तु-दोष दूर हो जाते हैं. पारद शिवलिंग का शुभ प्रभाव इतना है कि यदि किसी घर में तंत्र-मंत्र, नज़र दोष का असर हो तो वो भी खत्म हो जाता है. 

Tags: Dharma Aastha, Lord Shiva, Religion

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें