लाइव टीवी

प्रदोष व्रत आज, इस विधि से करें भगवान शिव की पूजा

News18Hindi
Updated: May 19, 2020, 7:03 AM IST
प्रदोष व्रत आज, इस विधि से करें भगवान शिव की पूजा
प्रदोष व्रत की पूजा विधि

प्रदोष व्रत (Pradosh Vrat):प्रदोष की पूजा करते समय साधक को भगवान शिव के मंत्र 'ॐ नमः शिवाय' का पाठ करना चाहिए.

  • Share this:
प्रदोष व्रत (Pradosh Vrat): आज 19 मई मंगलवार को प्रदोष व्रत है. हिंदू धर्म में प्रदोष व्रत का काफी महत्व है. पौराणिक रीति रिवाजों के अनुसार, इस दिन माता पार्वती और भोले शंकर की आराधना की जाती है. प्रदोष व्रत का महत्व वार के मुताबिक़ अलग अलग होता है. मंगलवार के दिन पड़ने वाले प्रदोष को मंगल प्रदोष या भौम प्रदोष कहा जाता है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, इस व्रत को करने वाले जातकों के संकट कट जाते हैं. अविवाहित यदि इस व्रत को करते हैं तो उन्हें सुयोग्य जीवनसाथी की प्राप्ति होती है. साथ ही भगवान मृत्युंजय की कृपा से जातक के जीवन पर आने वाला संकट भी कट जाता है.

प्रदोष व्रत की पूजा विधि:
प्रदोष व्रत की पूजा करने वाले जातकों को सुबह सूर्योदय से पहले और शाम को प्रदोष काल यानी कि गोधूली बेला में पूजा करनी चाहिए. तभी व्रत का फल मिलता है.

इसके लिए व्रती को प्रातः सूर्योदय से पहले बिस्तर त्याग देना चाहिए. इसके बाद नहा-धोकर पूरे विधि-विधान के साथ भगवान शिव का भजन कीर्तन और पूजा-पाठ करना चाहिए. इसके बाद पूजाघर में साफ-सफाई करनी चाहिए. इसके बाद पूजा के स्थान और पूरे घर में गंगाजल से पवित्रीकरण करना चाहिए.



पूजाघर को गाय के गोबर से लीपें. हिंदू धर्म में गाय के गोबर की काफी महिमा बताई गई है. यदि आप ऐसा नहीं भी करते हैं तो परेशानी की बात नहीं है.



अगर केले के पत्ते मिल सकें तो इन पत्तों और रेशमी कपड़ों की सहायता से एक मंडप तैयार करना चाहिए. आटे, हल्दी और रंगों की सहायता से पूजाघर में एक अल्पना (रंगोली) बनानी चाहिए. व्रती को कुश के आसन पर बैठ कर उत्तर-पूर्व की दिशा में मुंह करके भगवान शिव की आराधना करनी चाहिए.

जाप करें इस मंत्र का:
प्रदोष की पूजा करते समय साधक को भगवान शिव के मंत्र 'ॐ नमः शिवाय' का पाठ करना चाहिए. इसके बाद शिवलिंग पर दूध, जल और बेलपत्र चढ़ाना चाहिए.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्म से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 19, 2020, 7:03 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading