लाइव टीवी

Vrat And Tyohar Jan 2020: शुक्र प्रदोष व्रत आज, जानें कब है संकष्टी चतुर्थी

News18Hindi
Updated: January 8, 2020, 8:15 AM IST
Vrat And Tyohar Jan 2020: शुक्र प्रदोष व्रत आज, जानें कब है संकष्टी चतुर्थी
आज शुक्र प्रदोष व्रत को भगवान शिव की पूजा की जाएगी

Vrat And Tyohar Jan 2020: धार्मिक मान्यताओं के अनुसार प्रदोष व्रत भगवान शिव की कृपा पाने के लिए किया जाता है. सच्चे मन से ये व्रत करने वाले जातकों की सभी तरह की मनोकामनाएं पूरी होती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2020, 8:15 AM IST
  • Share this:
Vrat And Tyohar Jan 2020: नए साल के पहले महीने यानी कि जनवरी में कई व्रत और त्यौहार पड़ रहे हैं. आज 8 जनवरी बुधवार को शुक्र प्रदोष व्रत मनाया जा रहा है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार प्रदोष व्रत भगवान शिव की कृपा पाने के लिए किया जाता है. सच्चे मन से ये व्रत करने वाले जातकों की सभी तरह की मनोकामनाएं पूरी होती हैं. इस बार प्रदोष व्रत का शुभ मुहूर्त सूर्य अस्त होने के बाद से तीन घड़ी पहले यानी कि शाम 4:30 से लेकर शाम 7:00 बजे तक है. इस दौरान आप किसी भी समय पूरे विधि विधान के साथ भगवान शिव की पूजा अर्चना कर सकते हैं.

इसके अलावा भी इस महीने में कई मुख्य त्यौहार पड़ रहे हैं. आइए जानते हैं उन त्योहारों के बारे में...

संकष्टी चतुर्थी: 13 जनवरी सोमवार को संकष्टी चतुर्थी का व्रत है. संकष्टी चतुर्थी वैसे तो हर महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को पड़ती है. लेकिन माघ माह के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली संकष्टी चतुर्थी का अपना अलग ही महत्व है. संकष्टी चतुर्थी को सकट चौथ, तिलकुटा चौथ, संकटा चौथ, माघी चतुर्थी भी कहा जाता है. इस दिन महिलाएं अपनी संतान की लंबी उम्र की कामना के साथ पूरे दिन निर्जला व्रत करती हैं और गणेश भगवान की पूजा अर्चना करती हैं.

इसे भी पढ़ें: सकट चौथ व्रत कथा 2020: इस कथा के बिना अधूरा है व्रत

लोहड़ी: लोहड़ी का त्यौहार मकर संक्राति से एक दिन पहले और पौष माह के समापन की आखिरी रात्रि में मनाया जाता है. लोहड़ी का त्यौहार प्रकृति को फसलों की अच्छी पैदावार के लिए धन्यवाद देने के उद्देश्य से मनाया जाता है. इस दिन रत में लोहड़ी जलाई जाती है. इसमें तिल और मक्के से बने सामान की आहुति दी जाती है, महिलायें और पुरुष पंजाबी में लोकगीत गाते हैं. हर कोई पारंपरिक कपड़ों में नजर आता है. रात में ढोल नगाड़ों की तर्ज पर भागड़ा भी किया जाता है. लोग प्रकृति से आने वाले समय में भी फसलों की अच्छी पैदावार के लिए प्रार्थना करते हैं.

इसे भी पढ़ें: Sakat Chauth 2020: कब है सकट चौथ? आखिर क्यों महिलाएं इस दिन रखती हैं निर्जला व्रत

Disclaimer:  इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कल्चर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 8, 2020, 8:14 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर