अपना शहर चुनें

States

Putrada Ekadashi 2021 Date: पुत्रदा एकादशी कब है? जानें तारीख, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

पुत्रदा एकादशी भगवान विष्णु को समर्पित मानी जाती है
पुत्रदा एकादशी भगवान विष्णु को समर्पित मानी जाती है

पुत्रदा एकादशी 2021(Putrada Ekadashi 2021 Date): पुत्रदा एकादशी में भगवान विष्णु की पूजा की जाती है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, जो जातक पूरे विधि विधान के साथ पुत्रदा एकादशी का व्रत करता है उसे योग्य संतान की प्राप्ति होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2021, 6:42 AM IST
  • Share this:
पुत्रदा एकादशी 2021(Putrada Ekadashi 2021 Date): पुत्रदा एकादशी 24 जनवरी २०२१, रविवार को है. हमेशा से ही सनातन धर्म में एकादशी का काफी महत्व है. साल भर में 24 एकादशी पड़ती हैं. हर एकादशी तिथि का अपना महत्व है, लेकिन सावन माह में पड़ने वाली एकादशी विशेष महत्व रखती है. इसे पुत्रदा एकादशी कहते हैं.पुत्रदा एकादशी में भगवान विष्णु की पूजा की जाती है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, जो जातक पूरे विधि विधान के साथ पुत्रदा एकादशी का व्रत करता है उसे योग्य संतान की प्राप्ति होती है.

इसके अलावा यह भी माना जाता है कि जो दंपति निःसंतान हों वो यदि यह व्रत करें तो उन्हें संतान की प्राप्ति होती है. पुत्रदा एकादशी साल में दो बार आती है- पुत्रदा एकादशी सावन में हो होती ही है. इसके अलावा पौष माह में भी पड़ती है. आइए जानते हैं पुत्रदा एकादशी का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि...

Also Read: क्यों है भगवान गणेश का एक ही दंत, जानें इसके पीछे की पौराणिक कथा



पुत्रदा एकादशी का शुभ मुहूर्त:
एकादशी तिथि का आरंभ 23 जनवरी, शनिवार, रात 8:56 बजे.
व्रत का समापन: 24 जनवरी, रविवार, रात 10: 57 बजे.
पारण का समय: 25 जनवरी, सोमवार, सुबह 7:13 से 9:21 बजे तक.
पुत्रदा एकादशी की पूजा विधि:
पुत्रदा एकादशी से एक रात पहले यानी कि दशमी की रात्रि में सोने से पहले दातुन करने सोयें. इसके बाद पुत्रदा एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठकर नित्यकर्म और स्नान कर शुद्ध हो जाएं. इसके बाद साफ कपड़े पहनें और पूजाघर की सफाई करें. अब भगवान विष्णु को नमन कर उन्हें पुष्प से सजाएं और घी का दिया जलाएं. मन में व्रत का संकल्प लें. धूप, दीप और नैवेद्य अर्पित करें. भोग लगाएं और भगवान विष्णु की आरती करें. शाम के समय कथा का विधिवत पाठ करें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज