Radhashtami 2020: राधाष्टमी पर राधा रानी की पूजा के बाद जरूर पढ़ें ये आरती

Radhashtami 2020: राधाष्टमी पर राधा रानी की पूजा के बाद जरूर पढ़ें ये आरती
राधा-कृष्‍ण के भक्‍तों के लिए राधा अष्‍टमी का विशेष महत्‍व है.

राधाष्टमी को श्रीराधा अष्टमी (Radha Ashtami) भी कहा जाता है. राधाष्टमी को कृष्ण प्रिया राधारानी के जन्मदिन के रूप में मनाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2020, 7:16 AM IST
  • Share this:
राधाष्टमी २०२० (Radhashtami 2020): राधाष्टमी आज मनाई जा रही है. राधाष्टमी हर साल भाद्रपद माह के शुक्लपक्ष की अष्टमी को मनाई जाती है. राधाष्टमी को श्रीराधा अष्टमी (Radha Ashtami) भी कहा जाता है. राधाष्टमी को कृष्ण प्रिया राधारानी के जन्मदिन के रूप में मनाते हैं. पौराणिक शास्त्रों के अनुसार कृष्ण (Krishna) के जन्मदिन भादों कृष्णपक्ष अष्टमी से पन्द्रह दिन बाद शुक्लपक्ष की अष्टमी को दोपहर अभिजित मुहूर्त में श्रीराधा (Shri Radha) जी राजा वृषभानु की यज्ञ भूमि से प्रकट हुई थीं. श्रीराधा अष्टमी के दिन राधा रानी की पूजा करने के बाद उनकी आरती जरूर करें.

पढ़ें आरती श्री राधाजी की

आरती राधाजी की कीजै। टेक...
कृष्ण संग जो कर निवासा, कृष्ण करे जिन पर विश्वासा।
आरती वृषभानु लली की कीजै। आरती...


कृष्णचन्द्र की करी सहाई, मुंह में आनि रूप दिखाई।

उस शक्ति की आरती कीजै। आरती...
नंद पुत्र से प्रीति बढ़ाई, यमुना तट पर रास रचाई।

आरती रास रसाई की कीजै। आरती...
प्रेम राह जिनसे बतलाई, निर्गुण भक्ति नहीं अपनाई।

आरती राधाजी की कीजै। आरती...
दुनिया की जो रक्षा करती, भक्तजनों के दुख सब हरती।
आरती दु:ख हरणीजी की कीजै। आरती...
दुनिया की जो जननी कहावे, निज पुत्रों की धीर बंधावे।

आरती जगत माता की कीजै। आरती...
निज पुत्रों के काज संवारे, रनवीरा के कष्ट निवारे।

आरती विश्वमाता की कीजै। आरती राधाजी की कीजै...(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज