होम /न्यूज /धर्म /सूने और निर्जन घर में नहीं सोना चाहिए, जानें धार्मिक ग्रंथों के अनुसार सोने के नियम

सूने और निर्जन घर में नहीं सोना चाहिए, जानें धार्मिक ग्रंथों के अनुसार सोने के नियम

किसी सोए हुए मनुष्य को अचानक से जगाना उचित नहीं होता.

किसी सोए हुए मनुष्य को अचानक से जगाना उचित नहीं होता.

हिंदू धार्मिक शास्त्रों में सोने के कई नियम बताए गए हैं जैसे कि हमें कब, कहां और कैसे सोना है. धार्मिक पुराणों के अनुसा ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

उत्तर दिशा में सिर करके सोने से बीमारियां आने का खतरा बढ़ जाता है.
दक्षिण दिशा में सिर करके सोने से धन की कमी नहीं रहती.

Sleeping Rules : मानव शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पौष्टिक आहार, नियमित दिनचर्या, व्यायाम और सबसे जरूरी है अच्छी नींद लेना. विज्ञान भी ये मान चुका है कि स्वस्थ रहने में नींद की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है. हम अपनी दिनचर्या को कितना भी अच्छा करें या कितना भी अच्छा खान-पान रखें, लेकिन यदि हमें अच्छी नींद नहीं आ रही है तो हम स्वास्थ्य लाभ नहीं ले सकते. हिंदू धर्म में हर कार्य को नियम, अनुशासन और धर्म से बांधा जाता है. शास्त्रों में बताया गया है कि जब सारे दिन की थकान को दूर करने के लिए हम रात में सोने जाते हैं तो हमें कुछ जरूरी बातों का ख्याल रखना चाहिए. धार्मिक ग्रंथों के अनुसार, किस तरह सोना चाहिए इस विषय में अधिक जानकारी दे रहे हैं भोपाल निवासी ज्योतिषी एवं पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा.

धर्म पुराणों के अनुसार सोने के नियम

मनुस्मृति नामक पुस्तक में बताया गया है कि सूने और निर्जन घर में अकेला सोना नुकसानदायक हो सकता है. इसके अलावा किसी देव मंदिर या श्मशान में भी नहीं सोना चाहिए. किसी सोए हुए मनुष्य को अचानक से जगाना उचित नहीं होता.

यह भी पढ़ें – इन 6 राशियों के लिए लकी रहेगा बुधादित्य योग, 3 दिसंबर तक नौकरी, बिजनेस समेत कई चीजों में होगा लाभ

चाणक्य नीति में बताया गया है कि विद्यार्थी, नौकर और द्वारपाल यदि ज्यादा देर तक सोए हुए हों तो इन्हें तुरंत जगा देना चाहिए. पद्म पुराण के अनुसार, स्वस्थ मानव शरीर की आयु रक्षा के लिए ब्रह्म मुहूर्त में उठना लाभदायक होता है.

-वास्तु शास्त्र के अलावा हिंदू धर्म पुराणों में भी इस बात का जिक्र मिलता है कि पूर्व दिशा में सिर करके सोने से विद्या की कमी नहीं होती और व्यक्ति के अंदर सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है. साथ ही एकाग्रता में वृद्धि होती है.

यह भी पढ़ें –मिथुन, कर्क समेत ये 5 राशि के जातक होते हैं अधिक इमोशनल

किस दिशा में सिर करके सोना होता है लाभकारी?

पश्चिम दिशा की तरफ सर करके सोने से नाम इज्जत और पहचान में बढ़ोत्तरी होती है. उत्तर दिशा में सिर करके सोने से बीमारियां आने का खतरा बढ़ जाता है. दक्षिण दिशा में सिर करके सोने से धन की कमी नहीं रहती. मान्यताओं के अनुसार दक्षिण दिशा में सिर करके सोने से जीवन में धन खुशी और समृद्धि में बढ़ोत्तरी होती है. साथ ही शारीरिक तनाव और नकारात्मक विचार नहीं आते.

Tags: Astrology, Dharma Aastha, Religion

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें