Sawan Somvar 2020: रुद्राक्ष धारण करने से पहले जरूर जान लें ये बातें, जानें धार्मिक महत्व

Sawan Somvar 2020: रुद्राक्ष धारण करने से पहले जरूर जान लें ये बातें, जानें धार्मिक महत्व
धार्मिक मान्यता के अनुसार जिस घर में रुद्राक्ष की नियमित पूजा होती है वहां अन्न, वस्त्र, धन-धान्य की कभी कमी नहीं होती.

प्रत्येक रुद्राक्ष (Rudraksha) के ऊपर धारियां बनी रहती हैं, इन धारियों को रुद्राक्ष का मुख कहते हैं. इन धारियों की संख्या 1 से लेकर 21 तक हो सकती है्, इन्हीं धारियों को गिनकर रुद्राक्ष का वर्गीकरण 1 से 21 मुखी तक किया जाता है यानी रुद्राक्ष में जितनी धारियां होंगी, वह उतना ही मुखी रुद्राक्ष कह लाएगा.

  • Share this:
रुद्राक्ष (Rudraksha) एक मात्र ऐसा फल है जो अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष प्रदान करने में कारगर माना जाता है. शिवपुराण (Shiv Puran), पद्मपुराण, रुद्राक्षकल्प, रुद्राक्ष महात्म्य आदि ग्रंथों में रुद्राक्ष की महिमा के बारे में बताया गया है. रुद्राक्ष यूं तो कोई भी हो वह लाभकारी होता है लेकिन मुख के अनुसार इसका महत्व अलग-अगल होता है. प्रत्येक रुद्राक्ष के ऊपर धारियां बनी रहती हैं, इन धारियों को रुद्राक्ष का मुख कहते हैं. इन धारियों की संख्या 1 से लेकर 21 तक हो सकती है्, इन्हीं धारियों को गिनकर रुद्राक्ष का वर्गीकरण 1 से 21 मुखी तक किया जाता है यानी रुद्राक्ष में जितनी धारियां होंगी, वह उतना ही मुखी रुद्राक्ष कह लाएगा.

रुद्राक्ष की नियमित पूजा होती है
धार्मिक मान्यता के अनुसार जिस घर में रुद्राक्ष की नियमित पूजा होती है वहां अन्न, वस्त्र, धन-धान्य की कभी कमी नहीं होती. ऐसे घर में लक्ष्मी का सैदव वास रहता है. माना जाता है कि रुद्राक्ष को हमेशा धारण करने वाला और इसकी पूजा करने वाला अंत काल में शरीर को त्यागकर शिवलोक में स्थान प्राप्त करता है. पौराणिक कथाओं में उल्लेख किया गया है कि सती के देह त्याग पर शिव जी को बहुत दुख हुआ था और उनके आंसू अनेक स्थानों पर गिरे जिससे रुद्राक्ष उत्पन्न हुआ. इसलिए रुद्राक्ष धारण करने वाले के सभी कष्ट भगवान हर लेते हैं.

रुद्राक्ष हर हाल में फायदेमंद होता है
ज्योतिषीय दृष्टि से भी रुद्राक्ष धारण करने के बड़े फायदे बताए गए हैं. ज्योतिषशास्त्र के अनुसार मनुष्य के बीमार होने का बड़ा कारण ग्रहों की प्रतिकूलता होती है. रुद्राक्ष धारण करने से ग्रहों की प्रतिकूलता दूर होती है. चाहे व्यक्ति शनि की साढ़ेसाती से पीड़ित हो या शनि ने चन्द्रमा को पीड़ित करके आपके जीवन में कष्ट भर दिया हो रुद्राक्ष हर हाल में फायदेमंद होता है.



रुद्राक्ष को सिर पर रखकर भगवान शिव का ध्यान
अगर कालसर्प के कारण जीवन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है तो रुद्राक्ष धारण करने से अनुकूल फल की प्राप्ति होती है. अगर आप किसी शुभ दिन पर गंगा स्नान करने की चाहत रखते हैं और गंगा तट पर नहीं पहुंच पाते हैं तब रुद्राक्ष को सिर पर रखकर भगवान शिव का ध्यान करने से गंगा स्नान का फल प्राप्त हो जाता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading