Sawan Somvar 2020: सावन का तीसरा सोमवार आज, इन 6 शुभ मुहूर्त पर करें महादेव की पूजा

Sawan Somvar 2020: सावन का तीसरा सोमवार आज, इन 6 शुभ मुहूर्त पर करें महादेव की पूजा
तीसरे सावन सोमवार पर सोमवती अमावस्या भी है जिसके चलते इस सावन सोमवार का महत्व और भी ज्यादा बढ़ गया है.

मान्यता है सावन के महीने (Sawan Month) में भगवान शिव (Lord Shiva) आराधना करने से सभी तरह की मनोकामनाएं जरूर पूरी होती हैं. इस बार इन 6 शुभ मुहूर्त पर महादेव की पूजा जरूर करें.

  • Share this:
आज यानी 20 जुलाई को सावन महीने (Sawan Month) का तीसरा सोमवार (Monday) है. सावन के महीने में सावन सोमवार का विशेष महत्व होता है. तीसरे सावन सोमवार पर सोमवती अमावस्या (Somvati Amavasya) भी है जिसके चलते इस सावन सोमवार का महत्व और भी ज्यादा बढ़ गया है. वैसे तो सावन सोमवार पर भक्त भारी तादाद में मंदिरों में जाकर महादेव (Mahadev) का जलाभिषेक करते हैं लेकिन इस बार कोरोना (Corona) महामारी के चलते मंदिरों में बहुत ही कम लोग जलाभिषेक कर सकेंगे. इस दौरान लोग अपने-अपने घरों में रहकर ही विधिवत रूप से सावन सोमवार पर भोलेनाथ की पूजा-आराधना करें. मान्यता है सावन के महीने में भगवान शिव आराधना करने से सभी तरह की मनोकामनाएं जरूर पूरी होती हैं. इस बार इन 6 शुभ मुहूर्त पर महादेव की पूजा जरूर करें.

सावन सोमवार के शुभ मुहूर्त
अभिजित मुहूर्त- दोपहर 12:00 बजे से दोपहर 12:55 तक
अमृत काल- शाम 06:59 बजे से रात 08:34 बजे तक
सर्वार्थ सिद्धि योग- रात 09:21 बजे से सुबह 05:36 बजे तक (21 जुलाई)
विजय मुहूर्त- दोपहर 02:45 बजे से दोपहर 03:39 बजे तक


गोधूलि मुहूर्त- शाम 07:05 बजे से 07:29 बजे तक
सायाह्न सन्ध्या- शाम 07:19 बजे से रात 08:21 बजे तक

तीसरे सावन सोमवार की पूजा विधि
आज तीसरा सावन सोमवार है. इस दिन सोमवती अमावस्या होने के कारण पूजा विशेष रूप से की जाती है. भगवान भोलेनाथ जल्द प्रसन्न होने वाले देवता हैं. उनकी पूजा बहुत ही आसान होती है. भोलेनाथ एक लोटा जल और बेल पत्र अर्पित करने मात्र से ही प्रसन्न हो जाते हैं. इस दिन व्रती सुबह जल्दी उठें. इसके बाद शिव पूजन में प्रयोग की जानी वाली सामग्री को एकत्र कर घर के शिव मंदिर में जाकर पूजा करें. सभी पूजन सामग्री को भगवान शिव और माता पार्वती को अर्पित करने के बाद शिवजी को प्रणाम करें. ध्यान रहे इस दौरान शिवलिंग पर जलाभिषेक करते समय शिव के मंत्रों का लगातार जाप करते रहें.

इसे भी पढ़ेंः Sawan Somvar 2020: 20 जुलाई को सावन का तीसरा सोमवार, जानें कितने प्रकार के शिवलिंग की होती है पूजा

रुद्राभिषेक 
रूद्र का अभिषेक करने से सभी देवों का भी अभिषेक करने का फल उसी क्षण मिल जाता है. रुद्राभिषेक में सृष्टि की समस्त मनोकामनाएं पूर्ण करने की शक्ति है. अतः अपनी आवश्यकता अनुसार अलग-अलग पदार्थों से अभिषेक करके प्राणी इच्छित फल प्राप्त कर सकता है. कहते हैं कि दूध से पुत्र प्राप्ति, गन्ने के रस से यश उत्तम पति/पत्नी की प्राप्ति, शहद से कर्ज मुक्ति, कुश और जल से रोग मुक्ति, पंचामृत से अष्टलक्ष्मी तथा तीर्थों के जल से मोक्ष की प्राप्ति होती है.

शिव मंत्र
सावन सोमवार पर शिवलिंग पर जल चढ़ाते समय इन शिव मंत्रों का जाप जरूर करें-
ॐ नमः शिवाय॥
नम: शिवाय॥
ॐ ह्रीं ह्रौं नम: शिवाय॥
ॐ पार्वतीपतये नम:॥
ॐ पशुपतये नम:॥
ॐ नम: शिवाय शुभं शुभं कुरू कुरू शिवाय नम: ॐ ॥ (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज