वृश्चिक संक्रांति 2020: आज है वृश्चिक संक्रांति, वृश्चिक राशि में सूर्य का होने जा रहा है गोचर

सूर्य जब जन्म कुंडली में शुभ होते हैं तो मान सम्मान और प्रतिष्ठा प्रदान करते हैं.
सूर्य जब जन्म कुंडली में शुभ होते हैं तो मान सम्मान और प्रतिष्ठा प्रदान करते हैं.

वृश्चिक राशि (Scorpio Zodiac) के लिए सूर्य का यह गोचर कई मामलों में शुभ होने जा रहा है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस परिवर्तन से वृश्चिक राशि के जातकों को व्यापार (Trade) और नौकरी (Job) में लाभ होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 16, 2020, 8:14 AM IST
  • Share this:
पंचांग के अनुसार सूर्य (Sun) 16 नवंबर 2020 को यानी आज राशि परिवर्तन करने जा रहा है. सूर्य का राशि परिवर्तन वृश्चिक संक्रांति (Scorpio Solstice) के नाम से जाना जाता है. सूर्य का यह परिवर्तन सभी राशियों को प्रभावित करेगा. लेकिन इस बार वृश्चिक राशि पर इसका विशेष प्रभाव देखने को मिलेगा. आपको बता दें कि इससे पहले तक सूर्य तुला राशि में विराजमान थे. पंचांग के अनुसार 16 नवंबर को यानी आज सूर्य इस राशि में अपनी यात्रा को पूरा कर वृश्चिक राशि में आ जाएंगे. 16 नवंबर को सुबह 06 बजकर 40 मिनट पर सूर्य अपनी नीच राशि तुला से निकलकर अपनी मित्र राशि वृश्चिक में आ जाएंगे. वृश्चिक राशि में सूर्य 15 दिसंबर 2020 तक रहेंगे. इसके बाद धनु राशि में सूर्य का प्रवेश होगा.

सूर्य का स्वभाव
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य सिंह राशि का स्वामी है. सूर्य जब जन्म कुंडली में शुभ होते हैं तो मान सम्मान और प्रतिष्ठा प्रदान करते हैं. सूर्य अशुभ हो तो पेट, आंख, हृदय से संबंधित रोग भी प्रदान करता है.

इसे भी पढ़ेंः Bhai Dooj 2020: जानें भाई दूज पर तिलक लगाने की सही विधि, इस समय करें पूजा
वृश्चिक राशि में सूर्य का फल


वृश्चिक राशि के लिए सूर्य का यह गोचर कई मामलों में शुभ होने जा रहा है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस परिवर्तन से वृश्चिक राशि के जातकों को व्यापार और नौकरी में लाभ होगा. रूके हुए कार्य पूर्ण होंगे. साथ ही मान सम्मान में वृद्धि होगी. इस दौरान प्रमोशन मिलने की भी स्थिति बनेगी. करियर की दृष्टि से यह गोचर विशेष लाभकारी साबित होगा. वृश्चिक राशि वालों को सूर्य का यह गोचर प्रभावशाली बनाएगा. आत्मविश्वास में वृद्धि करेंगा. आप नेतृत्व कर्ता की भी भूमिका निभा सकते हैं. इस दौरान समाज में आपका सम्मान बढ़ेगा. साथ ही क्रोध और घमंड न करें नहीं तो नुकसान उठाना पड़ सकता है. सूर्य का गोचर आपकी वाणी की मधुरता को कम कर सकता है, इसलिए ध्यान रखें.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज