September Weekly Vrat Tyohar: जानिए कब है विश्वकर्मा पूजा, सर्व पितृ अमावस्या, अधिक मास, विनायक चतुर्थी और प्रदोष व्रत

September Weekly Vrat Tyohar: जानिए कब है विश्वकर्मा पूजा, सर्व पितृ अमावस्या, अधिक मास, विनायक चतुर्थी और प्रदोष व्रत
विश्वकर्मा पूजा 16 सितंबर को होगी.

सितंबर माह (September Weekly Vrat Tyohar) के तीसरे सप्‍ताह में विश्वकर्मा पूजा (Vishwakarma Puja), सर्व पितृ अमावस्या, अधिक मास, विनायक चतुर्थी (Vinayak Chaturthi)और प्रदोष व्रत होने वाले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2020, 10:56 AM IST
  • Share this:
सितंबर महीने में कई व्रत और त्‍योहार होने वाले हैं. आज से सितंबर माह (September Weekly Vrat Tyohar) का तीसरा सप्ताह शुरू हो रहा है. इस सप्ताह में भौम प्रदोष व्रत, विश्वकर्मा पूजा (Vishwakarma Puja), मघा श्राद्ध, सर्व पितृ अमावस्या, कन्या संक्रांति, अधिक मास या पुरुषोत्तम मास और विनायक चतुर्थी (Vinayak Chaturthi) जैसे व्रत और त्योहार (Vrat aur Tyohar)होंगे. इनके बारे में आपको भी पूरी जानकारी होनी चाहिए, ताकि आपका कोई व्रत छूट न पाए. आइए जानते हैं इस सप्‍ताह में कौन से महत्वपूर्ण व्रत और त्योहार आने वाले हैं.

इस सप्ताह के व्रत और त्योहार
15 सितंबर, मंगलवार- भौम प्रदोष व्रत.

आश्विन मास के कृष्ण पक्ष का प्रदोष व्रत 15 सितंबर को होगा. प्रदोष काल में भगवान शिव की आराधना करना मंगलकारी माना जाता है.
15 सितंबर, मंगलवार- मघा श्राद्ध.



इसे भी पढ़ेंः Pitru Paksha 2020: बिना कुशा के अधूरी मानी जाती है पितरों की पूजा, जानें क्या है इसका अद्भुत कारण

त्रयोदशी तिथि को होने वाले श्राद्ध को मघा श्राद्ध कहते हैं. इस बार यह 15 सितंबर, मंगलवार को होगा.

16 सितंबर, बुधवार, विश्वकर्मा पूजा, सर्व पितृ अमावस्या है.

विश्वकर्मा पूजा 2020: विश्वकर्मा पूजा 16 सितंबर को होगी. इस दिन भगवान विश्वकर्मा की पूजा की जाती है.

सर्व पितृ अमावस्या 2020: इस वर्ष आश्विन मास की अमावस्या 16 सितंबर को है. इसे सर्व पितृ अमावस्या भी कहते हैं. इस दिन उन पितरों का श्राद्ध करते हैं, जिनके निधन की तिथि पता नहीं होती. इसी दिन पितृ पक्ष का समापन होता है.

इसे भी पढ़ें - सप्‍ताह के सातों दिन करें इन देवी देवताओं की पूजा, बदल जाएगी किस्मत

18 सितंबर, शुक्रवार. अधिक मास या मलमास या पुरुषोत्तम मास और कन्या संक्रांति.

अधिक मास या पुरुषोत्तम मास 2020: अधिकमास के देव स्वामी भगवान विष्णु हैं. इस कारण इसे पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है. 18 सितंबर से अधिक मास का प्रारंभ हो रहा है.

कन्या संक्रांति 2020: 18 सितंबर को सूर्य देव कन्या राशि में प्रवेश कर जाएंगे. ऐसे में कन्या संक्रांति का प्रारंभ हो जाएगा.

इसे भी पढ़ें - ये हैं मां लक्ष्मी के 8 रूप, अष्ट लक्ष्मी की ऐसे होती है पूजा

20 सितंबर, रविवार- विनायक चतुर्थी.

इस बार विनायक चतुर्थी 20 सितंबर को पड़ रही है. इस दिन भक्‍त अपने प्रिय भगवान श्री गणेश जी की विधि विधान से पूजा करते हैं. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading