Shab-E-Barat 2021 Wishes And Messages: शब-ए-बरात की मुबारकबाद दें इन मैसेज के साथ

रहमतों की बारिश होगी शब ए बरात में...

रहमतों की बारिश होगी शब ए बरात में...

Shab-E-Barat 2021 Wishes And Messages: यह रात रहमतों की रात है, इसलिए शब-ए-बरात में लोग रात भर अपने घरों और मस्जिदों (Prayers In Mosques) में अल्लाह की इबादत करते हैं और अपने गुनाहों की माफी मांगते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 28, 2021, 7:20 AM IST
  • Share this:
Shab-E-Barat 2021 Wishes And Messages: शब-ए-बरात मुसलमानों के लिए इबादत की रात होती है. यह बहुत खास मानी जाती है. इस्लामिक कैलेंडर (Islamic Calendar) के मुताबिक शब-ए-बरात का त्योहार इस साल 28 मार्च से लेकर 29 मार्च तक मनाया जाएगा. मान्यता है शब-ए-बरात में इबादत करने वाले अगर सच्चे दिल से इबादत करते हैं और अपने गुनाहों की माफी मांगते हैं तो उनके गुनाह माफ हो जाते हैं. इस मुबारक रात में लोग दुनिया को छोड़ कर जाने वाले अपने पूर्वजों की कब्रों पर रोशनी करते हैं. इस मौके पर मस्जिदों और घरों को भी सजाया जाता है. यह रात रहमतों की रात है, इसलिए शब-ए-बरात में लोग रात भर अपने घरों और मस्जिदों (Prayers In Mosques) में अल्लाह की इबादत करते हैं. इस मुबारक मौके पर आप भी अपने दोस्तों और परिवार के लोगों को शब-ए-बरात की मुबारकबाद इन खूबसूरत मैसेज (Shab-e-Barat Messages) के जरिये दे सकते हैं-

रहमतों की बारिश होगी शब ए बरात में

आओ इबादत करें अपने रब की

हम सब मिल कर साथ में
शब-ए-बरात मुबारक

आज की रात चांद आसमान से मुस्कुराएगा दुआओं का ऐसा चलेगा सिलसिला सारा जहान महक जाएगा मुबारक हो आपको ये शब-ए-बारात

आज की रात चांद आसमान से मुस्कुराएगा



दुआओं का ऐसा चलेगा सिलसिला

सारा जहान महक जाएगा

मुबारक हो आपको ये शब-ए-बरात

खुशी लेकर आई है रहमतों की है यह रात

आज इबादत करके मनवा लेंगे रब से हर बात

दोस्‍तों दुआओं में हमें भी रखना याद

मुबारक हो आपको ये शब-ए-बरात

आज है मौका इबादत का

आज है मौका दुआओं का

कर लो आज जी भर के अल्‍लाह को याद

आएगा फिर यह दिन एक साल बाद

शब-ए-बरात मुबारक

आज की रात अपने अल्लाह से मांगो ऐसी दुआ जिसमें माफी के बाद कोई गुनाह न हो मुल्‍क ओ दुनिया में रहे अमन यह वतन बन जाए रहमतों से चमन शब-ए-बरात मुबारक अल्लाह की दी हुई हैं सारी खुशियां अल्‍लाह ने दी है यह जिंदगी फिर क्‍यों न करके इबादत अपने रब का करें शुक्रिया शब-ए-बरात मुबारक

आज की रात अपने अल्लाह से मांगो ऐसी दुआ

जिसमें माफी के बाद कोई गुनाह न हो

मुल्‍क ओ दुनिया में रहे अमन

यह वतन बन जाए रहमतों से चमन

शब-ए-बरात मुबारक

अल्लाह की दी हुई हैं सारी खुशियां

अल्‍लाह ने दी है यह जिंदगी

फिर क्‍यों न करके इबादत

अपने रब का करें शुक्रिया

शब-ए-बरात मुबारक

रहमतों की बरसात होगी आज खुशियों से मुलाकात होगी आज कोई अधूरी न रहे दुआ आपकी यही दुआ हमाीर है आज मुबारक शब-ए-बरात

रहमतों की बरसात होगी आज

खुशियों से मुलाकात होगी आज

कोई अधूरी न रहे दुआ आपकी

यही दुआ हमारी है आज

मुबारक शब-ए-बरात

आज की रात चांद आसमान से मुस्कुराएगा

दुआओं का ऐसा चलेगा सिलसिला

सारा जहान महक जाएगा

मुबारक हो आपको ये शब-ए-बारात

दिल से दुआ कर लो आज की रात

कुबूल होगी दुआ आज की रात

शब-ए-बरात मुबारक हो...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज