इन उपायों से शनिदेव को करें प्रसन्‍न, होंगी मनोकामनाएं पूरी

शनिदेव की पूजा करने से सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है.

शनिदेव की पूजा करने से सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है.

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जो भी मनुष्य अपने जीवनकाल में जैसे भी कर्म करता है शनि देव उसे वैसा ही फल देते हैं. मनुष्य द्वारा किया गया कोई भी बुरा या अच्छा काम शनिदेव से छिपा हुआ नहीं है. शनिदेव की पूजा करने से सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 9, 2021, 7:27 AM IST
  • Share this:
हिंदू धर्म में हर एक दिन किसी विशेष देवता को समर्पित है. शनिवार का दिन न्याय के देवता कहे जाने वाले शनिदेव को समर्पित है. शनिवार के दिन शनिदेव की पूजा करने का विधान है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जो भी मनुष्य अपने जीवनकाल में जैसे भी कर्म करता है, शनि देव उसे वैसा ही फल देते हैं. मनुष्य द्वारा किया गया कोई भी बुरा या अच्छा काम शनिदेव से छिपा हुआ नहीं है. शनिदेव की पूजा करने से सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है. पूर्ण नियमानुसार पूजा और व्रत करने से शनिदेव की कृपा होती है और सारे दुख खत्म हो जाते हैं. शनिदेव के क्रोध से बचना बेहद जरूरी होता है नहीं तो मनुष्य पर कई तरह के दोष लग जाते हैं.

शनिदेव की पूजा का है विशेष महत्व

मनुष्य द्वारा जान बूझकर और अंजाने में हुई गलतियों का संपूर्ण हिसाब शनिदेव के पास होता है. इसलिए शास्त्रों में शनिदेव की पूजा का विशेष महत्व है. शनिवार के दिन अगर सही तरीके से शनिदेव की पूजा की जाए तो इससे ग्रहों की दशा में सुधार होता है. इसके साथ ही शनिदेव की असीम कृपा प्राप्त होती है.

इसे भी पढ़ें - Vastu Tips: घर में रखें ये 8 चीजें, नहीं होगी धन की कमी
इस विधि से करें पूजा

जलाएं सरसों के तेल का दीपक- शनिवार के दिन शनिदेव के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाएं. सरसों के देल का दीपक जलाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और भक्तों पर कृपा बरसाते हैं. शनिदेव के सामने सरसों के तेल का दीपक उनकी मूर्ति के आगे नहीं बल्कि शिला के आगे जलाना शुभ माना जाता है.

गरीबों को करें दान- शनिवार के दिन जो लोग मंदिर नहीं जा सकते हैं वो सरसों का तेल गरीबों को दान कर सकते हैं. जो लोग शनिवार के दिन शनिदेव के मंदिर जाकर आराधना नहीं कर सकते हैं वो घर पर ही शनिदेव के मंत्रों और शनि चालीसा का जाप कर सकते हैं.



इसे भी पढ़ें - Chanakya Niti: जीवन में सफलता दिलाएंगी आचार्य चाणक्‍य की ये 5 बातें

ये वस्‍तुएं करें भेंट- शनिदेव को तेल के साथ ही तिल, काली उदड़ या कोई काली वस्तु भी भेंट करें.

शनिवार के दिन शनिदेव की पूजा करने के पश्चात राम भक्त हनुमान जी की पूजा करना शुभ माना जाता है. हनुमान जी की पूजा करने के दौरान सिंदूर चढ़ाएं और केला अर्पित करके सुख-शांति की प्रार्थना करें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज