Home /News /dharm /

Shani Dosh Upay: आज करें हनुमान जी से जुड़े ये 3 उपाय, शनि दोष से मिलेगी मुक्ति

Shani Dosh Upay: आज करें हनुमान जी से जुड़े ये 3 उपाय, शनि दोष से मिलेगी मुक्ति

शनि दोष से मुक्ति के उपाय

शनि दोष से मुक्ति के उपाय

Shani Dosh Upay: आज शनिवार का दिन कर्मफल दाता शनि देव (Shani Dev) की पूजा के लिए है. हालांकि इस दिन संकटमोचन हनुमान जी (Lord Hanuman) की भी पूजा की जाती है. आइए जानते हैं हनुमान जी से जुड़े उन उपायों के बारे में, जो शनि दोष से राहत देते हैं.

अधिक पढ़ें ...

Shani Dosh Upay: आज शनिवार का दिन कर्मफल दाता शनि देव (Shani Dev) की पूजा के लिए है. हालांकि इस दिन संकटमोचन हनुमान जी (Lord Hanuman) की भी पूजा की जाती है. शनि देव ने हनुमान जी को वरदान दिया था कि वे कभी भी उनके भक्तों को परेशान नहीं करेंगे. इस वजह से शनिवार के दिन हनुमान जी की पूजा करने से शनि दोष से मुक्ति मिलती है, शनि पीड़ा से राहत प्राप्त होता है. आज आप स्नान के बाद हनुमान जी की पूजा करके उनकी कृपा प्राप्त कर सकते हैं और शनि दोष से राहत भी. आइए जानते हैं हनुमान जी से जुड़े उन उपायों के बारे में, जो शनि दोष से राहत देते हैं.

शनि दोष से मुक्ति के उपाय

1. शनिवार के दिन किसी हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान चालीसा का पाठ करें और हनुमान जी को लड्डू का भोग लगाएं. हनुमान चालीसा के पाठ से बजरंगबली प्रसन्न होते हैं. इससे शनि दोष में भी राहत मिलती है.

यह भी पढ़ें: ऐसे लोगों से नाराज रहते हैं शनि देव, भूलकर भी नहीं करें ये 8 काम

2. शनिवार को सुंदरकांड का पाठ करने से भी शनि दोष समेत कई समस्याओं से मुक्ति मिलती है. सुंदरकांड में हनुमान जी की वीरता और पराक्रम का वर्णन किया गया है. सुंदरकांड पाठ के लिए आपको काफी समय की जरूरत होगी.

आप चाहें तो शनिवार को सुंदरकांड का प्रारंभ करके शुक्रवार को समापन करें. फिर शनिवार से प्रारंभ करें. रोज कुछ हिस्से पढ़ें, ताकि शुक्रवार तक वह पूरा हो जाए. सुंदरकांड का एक पाठ करना है, तो शनिवार से प्रारंभ करके शनिवार को उसे पूरा करें और फिर हवन कराएं.

3. हनुमान जी की आराधना करने से शनि और मंगल ग्रह के दोष दूर होते हैं. हनुमान जी को चमेली के तेल और सिंदूर का चोला चढ़ाएं. लाल रंग का लंगोट भी अर्पित करें. पवनपुत्र आपकी मनोकामना पूरी करेंगे.

यह भी पढ़ें: सिर नीचे करके क्यों चलते हैं शनि देव? पत्नी ने क्यों दिया था श्राप

रावण ने जब शनि देव को कैद कर रख था, तब लंका दहन के समय हनुमान जी ने शनि देव को कैद से मुक्त कराया था. जब हनुमान जी स्वयं शनि देव के संकटों को दूर करने वाले हैं, तो फिर उनकी आराधना से शनि दोष या शनि की साढ़ेसाती या ढैय्या से उनके भक्तों को कैसे परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. हनुमान जी संकटमोचन हैं, वे सभी संकटों को दूर कर राहत प्रदान करने वाले हैं.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Tags: Dharma Aastha, Lord Hanuman, Shanidev

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर