Sheetala Saptami 2021: मां शीतला की पूजा में ये बसौड़ा पूजा सामग्री है जरूरी, नोट कर लें लिस्ट

Sheetala Saptami 2021 ये बसौड़ा पूजा सामग्री है जरूरी (credit: shutterstock)

Sheetala Saptami 2021 ये बसौड़ा पूजा सामग्री है जरूरी (credit: shutterstock)

Sheetala Saptami 2021 Puja Samagri: माता शीतला चेचक और अन्य संक्रामक रोगों से भक्तों की रक्षा करती हैं. शीतला माता को हमेशा बासी भोजन का ही भोग लगाया जाता है...

  • Share this:
Sheetala Saptami 2021 Puja Samagri: शीतला सप्तमी कल यानी कि 3 अप्रैल को है. शीतला सप्तमी के एक दिन पहले मीठा भात (ओलिया), खाजा, चूरमा, मगद, नमक पारे, शक्कर पारे, बेसन चक्की, पुए, पकौड़ी,राबड़ी, बाजरे की रोटी, पूड़ी, सब्जी तैयार कर रख लें. कुल्हड़ में मोठ, बाजरा भिगो दें. हालांकि इनका सेवन पूजा के बाद ही करना चाहिए. माता शीतला को अर्पित करने के लिए ऐसी रोटी सेंकें जिसपर चित्तियों के निशान ना हों. यानी कि आज छठ की रात्रि में ही शीतला माता की पूजा सामग्री के लिए सभी तैयारियां कर लें और इसके बाद किचन को अच्छे से साफ करें.

सप्तमी के दिन शीतला माता का व्रत रखें. शीतला माता को प्रणाम कर उन्हें रोली, मौली, पुष्प, वस्त्र आदि अर्पित करें और आरती व चालीसा का पाठ करें. इस बात का ख़ास ख्याल रखें कि शीतला माता की पूजा के बाद चूल्हा नहीं जलाया जाता है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, माता शीतला चेचक और अन्य संक्रामक रोगों से भक्तों की रक्षा करती हैं. शीतला माता को हमेशा बासी भोजन का ही भोग लगाया जाता है. आइए शीतला सप्तमी से पहले जान लें पूजा सामग्री की लिस्ट ताकि पूजा अधूरी ना रह जाए...

Also Read: Sheetala Saptami 2021 Date: शीतला सप्तमी व्रत कब है? जानें तिथि, पूजा विधि और मां शीतला की आरती

मां शीतला की पूजा में ये बासोड़ा पूजा सामग्री है जरूरी, नोट कर लें लिस्ट
1. नौ कंडवारे, एक कुल्हड़ और एक दीपक

2. दही, राबड़ी, चावल (ओलिया), पुआ, पकौड़ी, नमक पारे, रोटी, शक्कर पारे,भीगा मोठ, बाजरा- प्रसाद के लिए

3. थाली में रोली, चावल, मेहंदी, काजल, हल्दी, लच्छा (मोली), वस्त्र, होली वाली बड़कुले की एक माला और सिक्के.



4. आम के पत्तों के साथ जल का कलश.

5. आटे का दिया, रुई की बत्ती और शुद्ध देसी घी.

6. हल्दी और पानी टीके के लिए.

7. पूजा के लिए पीतल या फूल की थाली. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज