रानी सती महोत्सव आज, होगा मंगल कीर्तन, रथयात्रा और मां का गुणगान

रानी सती का मंदिर राजस्थान के झुंझुनू में है. संगमरमर का बना यह मंदिर बेहद खूबसूरत और किसी राजमहल की तरह दिखाई देता है. मंदिर के बाहर खूबसूरत रंगों से सुन्दर पेंटिंग्स बनाई गई हैं.

News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 11:45 AM IST
रानी सती महोत्सव आज, होगा मंगल कीर्तन, रथयात्रा और मां का गुणगान
रानी सती महोत्सव आज, होगा मंगल कीर्तन, रथयात्रा और मां का गुणगान
News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 11:45 AM IST
Shree Rani Sati Dadi Mandir: आज 30 अगस्त को रानी सती मंदिर में मारवाणी समाज के लोगों ने मां की महिमा के कीर्तन गाये और मंगलपाठ किया. महोत्सव की शुरुआत सुबह 10 बजे रानी सती के पंचामृत अभिषेक के साथ साथ हुई और शाम के करीब 7 बजे देवी के खूबसूरत श्रृंगार और रूप के दर्शन किए जा सकेंगे. इस मौके पर शोभायात्रा निकाली जाएगी और मंगल कीर्तन भी होंगे. आइए इस मौके पर जानते हैं देवी के मंदिर के बारे में...

रानी सती का मंदिर राजस्थान के झुंझुनू में है. संगमरमर का बना यह मंदिर बेहद खूबसूरत और किसी राजमहल की तरह दिखाई देता है. मंदिर के बाहर खूबसूरत रंगों से सुन्दर पेंटिंग्स बनाई गई हैं. अमावस्या, रविवार और सोमवार के दिन मंदिर में भक्तों का बड़ा हुजूम उमड़ता है. जानकारी के मुताबिक़, इस मंदिर का इतिहास 400 साल पुराना है. रानी सती दादी का यह मंदिर महिला शक्ति की निशानी है. आज यानी कि भाद्रपद अमावस्या के दिन भी विशेष धार्मिक अनुष्ठान में भाग लेने के लिए मंदिरों में भक्तों का जमावड़ा लगेगा.

इसे भी पढ़ें: गणपति की मूर्ति स्थापित करते समय रखें इन बातों का ख्याल!

ऐसा है मंदिर:

मंदिर का परिसर काफी विशाल है. प्रांगण में शिवजी, गणेशजी, माता सीता, भगवान राम, हनुमान जी, लक्ष्मीनारायण और षोडश माता का भी मंदिर हैं. इसमें 16 देवियों की प्रतिमा स्थापित है. यहां के स्थानीय लोगों का ऐसा विश्वास है कि रानी सती मां दुर्गा और शक्ति का प्रतिरूप थीं. लोगों के मुताबिक, रानी सती ने अपने पति की ह्त्या करने वालों को मौत के घाट उतार दिया और फिर सती हो गईं.

इसे भी पढ़ें: भारत की 70-90 % आबादी में पाई गई 'विटामिन डी' की कमी: अध्ययन
Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

Loading...




News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कल्चर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कल्चर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 11:33 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...