Home /News /dharm /

shukra pradosh vrat 2022 date saubhagya yog tithi puja muhurat and significance kar

Pradosh Vrat 2022: सौभाग्य योग में है शुक्र प्रदोष व्रत, जानें मुहूर्त एवं पूजा का महत्व

27 मई को शुक्र प्रदोष के दिन सुबह से ही सौभाग्य योग प्रारंभ हो जाएगा. (Photo: Pixabay)

27 मई को शुक्र प्रदोष के दिन सुबह से ही सौभाग्य योग प्रारंभ हो जाएगा. (Photo: Pixabay)

27 मई को शुक्र प्रदोष व्रत ((Shukra Pradosh Vrat)) सौभाग्य योग में है. इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग भी बना हुआ है. जानते हैं शुक्र प्रदोष व्रत पर बनने वाले योग, पूजा मुहूर्त आदि के बारे में.

ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष का प्रदोष व्रत सौभाग्य योग में है. यह ज्येष्ठ माह का दूसरा और मई का अंतिम प्रदोष व्रत है. य​ह शुक्र प्रदोष व्रत (Shukra Pradosh Vrat) है. ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि 27 मई शुक्रवार को दिन में 11 बजकर 47 मिनट पर प्रारंभ हो रही है. त्रयोदशी तिथि का समापन अगले दिन 28 मई शनिवार को दोपहर 01 बजकर 09 मिनट पर होगा. प्रदोष व्रत की पूजा शाम के समय में की जाती है, उस आधार पर प्रदोष व्रत का दिन तय होता है. ऐसे में प्रदोष व्रत का पूजा मुहूर्त 27 मई को ही प्राप्त हो रही है, इसलिए शुक्र प्रदोष व्रत 27 मई को रखा जाएगा. काशी के ज्योतिषाचार्य चक्रपाणि भट्ट से जानते हैं शुक्र प्रदोष व्रत पर बनने वाले योग, पूजा मुहूर्त आदि के बारे में.

यह भी पढ़ें: कब है ज्येष्ठ की मासिक शिवरा​त्रि, जानें तिथि और पूजा मुहूर्त 

सौभाग्य एवं सर्वार्थ सिद्धि योग में शुक्र प्रदोष व्रत
27 मई को शुक्र प्रदोष के दिन सुबह से ही सौभाग्य योग प्रारंभ हो जाएगा और यह रात 10 बजकर 09 मिनट तक रहेगा. उसके बाद से शोभन योग शुरु हो जाएगा. सौभाग्य और शोभन योग मांगलिक कार्यों के लिए उत्तम योग माने जाते हैं. सौभाग्य योग भाग्य एवं मंगल में वृद्धि करने वाला होता है.

यह भी पढ़ें: कब है ज्येष्ठ माह का शुक्र प्रदोष व्रत? जानें पूजा मुहूर्त, योग एवं महत्व 

शुक्र प्रदोष व्रत के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग भी बना हुआ है. इस दिन सुबह 05 बजकर 25 मिनट से सर्वार्थ सिद्धि योग शुरु हो जाएगा और पूरी रात तक रहेगा. सर्वार्थ सिद्धि योग मनोकामनाओं की पूर्ति करने वाला है.

प्रदोष व्रत के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग और सौभाग्य योग का संयोग अद्भुत है. इस दिन​ शिव पूजा करने का पूर्ण फल प्राप्त होगा. ​शिव जी के आशीर्वाद से आपके कष्ट, रोग, दोष, पाप, भय सब दूर हो जाएंगे.

प्रदोष व्रत पूजा मुहूर्त 2022
इस दिन प्रदोष व्रत की पूजा करने के लिए शुभ मुहूर्त शाम 07 बजकर 12 मिनट से प्रारंभ हो रहा है, जो रात 09 बजकर 14 मिनट तक रहेगा. इस दिन शिव पूजा के लिए आपको दो घंटे से अधिक का समय मिलेगा.

शुक्र प्रदोष व्रत को सुख समृद्धि में वृद्धि करने वाला बताया गया है. य​​ह व्रत उन लोगों को अवश्य करना चाहिए, जिनके वैवाहिक जीवन में किसी प्रकार की दिक्कत है. भगवान शिव और माता पार्वती की कृपा से अपका दांपत्य जीवन सुखमय होगा.

Tags: Dharma Aastha, Lord Shiva

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर