Singh Sankranti 2020: सूर्य संक्रांति पर जरूर करें ये काम, सूर्यदेव की पूजा की संपूर्ण विधि जानें

Singh Sankranti 2020: सूर्य संक्रांति पर जरूर करें ये काम, सूर्यदेव की पूजा की संपूर्ण विधि जानें
सूर्य संक्रांति सूर्य देव को समर्पित है (फोटो साभार: instagram/vishiv7)

सूर्य संक्रांति २०२० (Singh Sankranti 2020) : पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, सूर्य संक्रांति के दिन घी के सेवन से विशेष लाभ होता है. इससे ऊर्जा तेज होती है, बुद्धि तीव्र होती है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 16, 2020, 11:06 AM IST
  • Share this:
सूर्य संक्रांति २०२० (Singh Sankranti 2020) : आज सूर्य संक्रांति है. आज सूर्यदेव ने कर्क राशि से मकर राशि में प्रवेश किया. हर साल, भाद्रपद यानी भादो माह में जब सूर्यदेव अपनी राशि परिवर्तन करते हैं तो इसे सिंह संक्रांति कहते हैं. सूर्य संक्रांति के दान पुण्य करने और पवित्र नदियों में स्नान करने का विशेष महत्व है. लेकिन इस बार कोरोना काल की वजह से नदी में स्नान जोखिम भरा है. दक्षिण भारत में सूर्य संक्रांति को सिंह संक्रमण भी कहा जाता है. सूर्य संक्रांति को आज भक्तों ने सूर्य देव, भगवान विष्णु और नरसिंह भगवान की पूजा अर्चना की. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, सूर्य संक्रांति के दिन देसी घी का सेवन विशेष रूप से लाभदायक है.
इसे भी पढ़ें: रवि प्रदोष आज, सूर्य की कृपा पाने के लिए पढ़ें यह व्रत कथा

सूर्य संक्रांति का शुभ मुहूर्त-

सूर्य संक्रांति का पुण्य काल- दोपहर 12 बजकर 26 तक होगा.
सिंह संक्रान्ति का महापुण्य काल- शाम 04 बजकर 49 मिनट से शाम 7 बजे तक होगा.



सूर्य देव की पूजा विधि:
आज सूर्य देव की पूजा करने से पहले स्नान कर के साफ कपड़े पहनें. इसके बाद गाय के दूध, गंगाजल हो, पुष्प, चावल, कुमकुमसे भगवान सूर्य की मूर्ति की विधिवत पूजा करें. पूजा के बाद सूर्यदेव को ताम्बे के लोटे में जल अर्पित करें.

सूर्य मंत्र का करें जाप: सूर्यदेव को जल अर्पित करते समय ऊँ सूर्याय नम: का जाप करें. पूजा के समय इस मंत्र को 108 बार करें.

क्यों खाएं सूर्य संक्रांति के दिन घी:

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, सूर्य संक्रांति के दिन घी के सेवन से विशेष लाभ होता है. इससे ऊर्जा तेज होती है, बुद्धि तीव्र होती है. यह भी मान्यता है कि सूर्य संक्रांति के दिन जो जातक घी का सेवन नहीं करते हैं वो अगले जन्म में घोंघा बनकर पैदा होते हैं. सूर्य संक्रांति के दिन घी खाने का ज्योतिषीय महत्व भी है. इसके अनुसार, सूर्य संक्रांति के दिन घी खाने से पाप ग्रह केतु और राहु के प्रभाव से बचा जा सकता है.


सूर्य संक्रांति का प्रभाव:
सूर्य देव जब एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं तो संक्रांति लगती हैं. ऐसे में इसका सभी राशियों पर व्यापक प्रभाव पड़ता है. यह संक्राति कुछ राशियों के लिए शुभ हो सकती है और कुछ राशियों के लिए अशुभ. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज