अपना शहर चुनें

States

Skanda Sashti 2021 Katha: भगवान शिव के पुत्र कार्तिकेय के जन्म से जुड़ी है स्कंद षष्ठी, पढ़ें कथा

स्कंद षष्ठी पर जानें कथा (photo credit: instagram/1talimadas)
स्कंद षष्ठी पर जानें कथा (photo credit: instagram/1talimadas)

स्कंद षष्ठी कथा (Skanda Sashti 2021 Katha): स्कंद षष्ठी का व्रत रखने से भगवान कार्तिकेय प्रसन्न होते हैं और उनका आशीर्वाद मिलता है. यह व्रत मुख्य रूप से दक्षिण भारत (South India) के राज्यों में लोकप्रिय है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2021, 6:46 AM IST
  • Share this:
स्कंद षष्ठी कथा (Skanda Sashti 2021 Katha): आज स्कंद षष्ठी मनाई जा रही है. स्कंद षष्ठी भगवान शिव के ज्येष्ठ पुत्र 'भगवान कार्तिकेय' को समर्पित मानी जाती है. आज भक्त 'भगवान कार्तिकेय' की पूजा अर्चना करेंगे. स्कंद षष्ठी का व्रत रखने से भगवान कार्तिकेय प्रसन्न होते हैं और उनका आशीर्वाद मिलता है. यह व्रत मुख्य रूप से दक्षिण भारत (South India) के राज्यों में लोकप्रिय है. आइए स्कंद षष्ठी पर जानें स्कंद षष्ठी की कथा...

स्कंद षष्ठी की कथा:
कुमार कार्तिकेय के जन्म का वर्णन पुराणों में ही मिलता है. जब देवलोक में असुरों ने आतंक मचाया हुआ था, तब देवताओं को पराजय का सामना करना पड़ा था. लगातार राक्षसों के बढ़ते आतंक को देखते हुए देवताओं ने भगवान ब्रह्मा से मदद मांगी थी. भगवान ब्रह्मा ने बताया कि भगवान शिव के पुत्र द्वारा ही इन असुरों का नाश होगा, परंतु उस काल च्रक्र में माता सती के वियोग में भगवान शिव समाधि में लीन थे. इंद्र और सभी देवताओं ने भगवान शिव को समाधि से जगाने के लिए भगवान कामदेव की मदद ली और कामदेव ने भस्म होकर भगवान भोलेनाथ की तपस्या को भंग किया.

Also Read: Skanda Sashti 2021 Date: कब है स्कंद षष्ठी? जानें तारीख, पूजा विधि और महत्व
इसके बाद भगवान शिव ने माता पार्वती से विवाह किया और दोनों देवदारु वन में एकांतवास के लिए चले गए. उस वक्त भगवान शिव और माता पार्वती एक गुफा में निवास कर रहे थे. तभी एक कबूतर गुफा में चला गया और उसने भगवान शिव के वीर्य का पान कर लिया परंतु वह इसे सहन नहीं कर पाया और भागीरथी को सौंप दिया. गंगा की लहरों के कारण वीर्य 6 भागों में विभक्त हो गया और इससे 6 बालकों का जन्म हुआ. यह 6 बालक मिलकर 6 सिर वाले बालक बन गए. इस प्रकार कार्तिकेय का जन्म हुआ. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज