Strawberry Moon 2021: आज आसमान में दिखेगा स्ट्रॉबेरी मून, जानें इस खगोलीय घटना के बारे में सबकुछ

स्ट्रॉबेरी मून आमतौर पर वसंत की आखिरी पूर्णिमा या गर्मियों की पहली तारीख को दर्शाता है. Image-shutterstock.com

Strawberry Moon 2021: चंद्रमा अपने कक्ष में पृथ्वी (Earth) से निकटता के कारण अपने सामान्य आकार से काफी बड़ा दिखाई देता है, तब इसे स्ट्रॉबेरी मून कहा जाता है.

  • Share this:
    Strawberry Moon 2021: आज ज्येष्ठ पूर्णिमा है. ये ग्रीष्म संक्राति के बाद की पहली पूर्णिमा है और इस दिन एक अनोखी खगोलीय घटना आसमान में दिखाई देगी. आज आसमान में चंद्रमा स्ट्रॉबेरी रंग में नजर आएगा. इस अनोखी खगोलीय घटना को स्ट्रॉबेरी मून (Strawberry Moon) कहते हैं. इस दिन चांद आकार में बड़ा और थोड़ा-थोड़ा स्ट्राबेरी की तरह गुलाबी रंग का दिखाई देता है. आज पूर्णिमा के दिन निकलने वाले इस चांद को स्ट्रॉबेरी मून कहा जाता है. किसी-किसी जगह पर इसे हॉट मून (Hot Moon) या हनी मून (Honey Moon) भी कहते हैं. आइए जानते हैं इसके बारे में सबकुछ.

    क्यों खास होता है स्ट्रॉबेरी मून
    चंद्रमा अपने कक्ष में पृथ्वी से निकटता के कारण अपने सामान्य आकार से काफी बड़ा दिखाई देता है, तब इसे स्ट्रॉबेरी मून कहा जाता है. इस पूर्णिमा के चांद को ही स्ट्रॉबेरी मून कहते हैं.

    इसे भी पढ़ेंः सोमवार को भगवान शिव की पूजा में करें महामृत्युंजय मंत्र का जाप, जीवन से कष्ट होंगे दूर

    कहां से आया ये नाम
    स्ट्रॉबेरी मून को अपना ये नाम प्राचीन अमेरिकी जनजातियों से मिला है, जिन्होंने स्ट्रॉबेरी के लिए कटाई के मौसम की शुरुआत के साथ पूर्णिमा को चिन्हित किया था. दरअसल, स्ट्रॉबेरी मून एक स्थानीय अमेरिकी नाम है. दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में इसे अलग-अलग नाम से जाना जाता है. यूरोप में स्ट्रॉबेरी मून को रोज मून कहते हैं, जो गुलाब फूल की कटाई का प्रतीक है. उत्तरी गोलार्ध में इसे गर्म चंद्रमा (Hot Moon) कहा जाता है क्योंकि यह भूमध्य रेखा के उत्तर में गर्मी के मौसम की शुरुआत करता है. इसे वहां गर्मी की शुरुआत का प्रतीक माना जाता है.

    स्ट्रॉबेरी मून आमतौर पर वसंत की आखिरी पूर्णिमा या गर्मियों की पहली तारीख को दर्शाता है. इसे ब्लूमिंग मून, ग्रीन कॉर्न मून, होर मून, बर्थ मून, अंडे देने वाला मून, हैचिंग मून, हनी मून और मीड मून भी कहा जाता है. स्ट्रॉबेरी मून एक रात से अधिक समय तक दिखाई देता है.

    इसे भी पढ़ेंः 'ॐ' शब्‍द का सही समय और तरीके से करेंगे जाप, तो होंगे ये लाभ

    पिछले दिनों में कई खगोलीय घटनाएं देखने को मिली हैं. बीते दिनों सुपर मून, ब्लड मून, चंद्र ग्रहण और फिर रिंग ऑफ फायर यानि सूर्य ग्रहण दिखाई दिया था. अब आज स्ट्रॉबेरी मून भी बहुत खास होने वाला है. हिंदू पंचांग के अनुसार स्ट्रॉबेरी मून वसंत ऋतु की अंतिम पूर्णिमा और ग्रीष्म ऋतु की पहली पूर्णिमा का प्रतीक माना जाता है. स्ट्रॉबेरी मून के बाद 24 जुलाई को बक मून और 22 अगस्त को स्टर्जजन मून दिखाई देगा.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.