Home /News /dharm /

Surya Grahan 2021: 4 दिसंबर को सूर्य ग्रहण के बुरे प्रभाव से बचने के लिए करें इन मंत्रों का जाप

Surya Grahan 2021: 4 दिसंबर को सूर्य ग्रहण के बुरे प्रभाव से बचने के लिए करें इन मंत्रों का जाप

ग्रहण के दौरान इस मंत्र का जाप करेंगे तो नकारात्मक शक्तियों का नाश होता है.

ग्रहण के दौरान इस मंत्र का जाप करेंगे तो नकारात्मक शक्तियों का नाश होता है.

Surya Grahan 2021 Mantra: साल का अंतिम सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2021) 4 दिसंबर यानी शनिवार को लगेगा. धार्मिक मान्‍यता है कि सूर्य ग्रहण के दौरान राहु और केतु (Rahu Ketu) की बुरी छाया पृथ्वी पर पड़ती है. कहा जाता है कि इंसानों और जंतुओं पर इसका कुप्रभाव (Bad Effects) पड़ता है. ऐसे में कुछ मंत्रों (Mantra) का जाप कर सूर्य ग्रहण के बुरे प्रभाव से बचा जा सकता है. इन मंत्रों का जाप करने से शत्रुओं का भी नाश होता है. ग्रहण के दौरान कई घरों में कई नियमों का पालन करने का विधान है. बता दें कि 19 नवंबर को साल का अंतिम चंद्र ग्रहण लगा था जबकि 4 दिसंबर को साल का अंतिम सूर्य ग्रहण लगने वाला है.

अधिक पढ़ें ...

    Surya Grahan 2021 Mantra: साल का अंतिम सूर्य ग्रहण (Surya Grahan 2021) दिसंबर महीने की 4 तारीख को लगने जा रहा है. खगोलीय वैज्ञानिक इसे कई तरह से खास बता रहे हैं. जबकि हिंदू धार्मिक मान्‍यताओं के अनुसार, इस सयम राहु और केतु (Rahu-Ketu) की बुरी छाया धरती पर पड़ती है जिसका इंसानों और जानवरों पर बुरा असर (Bad Effects) पड़ता है. इस बार करीब चार घंटे ग्रहण के दौरान राहु और केतु की बुरी छाया पृथ्वी पर पड़ेगी.

    ग्रहण के दौरान कई घरों में कई नियमों का पालन करने का विधान है. साथ ही इसके बुरे प्रभावों से बचने के लिए सूर्य ग्रहण के दौरान विशेष मंत्रों (Surya Grahan Mantra) का जाप करें.

    Surya Grahan 2021- सूर्य ग्रहण को लेकर ये है मान्‍यताएं

    शास्‍त्रों में मान्‍यता है कि ग्रहण के वक्त शुभ काम नहीं करना चाहिए. यही नहीं, ज्योतिष विशेषज्ञों का कहना है कि सूर्य ग्रहण का अलग-अलग राशियों पर अलग तरह का प्रभाव पड़ता है, जिससे बचाव के लिए कुछ खास मंत्रों (Mantra) का जाप करने का विधान है. आइए, जानते हैं कुछ ऐसे मंत्र जिनके जाप से न सिर्फ शत्रुओं का नाश होता है, बल्कि सभी संकट दूर हो जाते हैं.

    ग्रहण के दौरान करें इन मंत्रों का जाप (Surya Grahan Mantra)

    1. नकारात्‍मक शक्तियों का नाश करने के लिए

    ॐ ह्लीं बगलामुखी सर्वदुष्टानां वाचं मुखं पदं स्तंभ
    जिह्ववां कीलय बुद्धि विनाशय ह्लीं ओम् स्वाहा।।

    अगर आप ग्रहण के दौरान इस मंत्र का जाप करें तो नकारात्मक शक्तियों का नाश होता है और शत्रुओं पर विजय मिलती है. आप इस मंत्र को सूर्य ग्रहण के दौरान माला के साथ जाप करें.

    यह भी पढ़ें- Surya Grahan 2021: जानें क्यों लगता है सूर्यग्रहण, क्या है राहू-केतू की पौराणिक कथा

    2. धन लाभ के लिए

    ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये
    प्रसीद-प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नम:।

    अगर आप ग्रहण के दौर इस मंत्र का जाप करेंगे तो मां लक्ष्मी खुश होंगी और जाप का लाभकारी असर पड़ेगा. धन लाभ की भी संभावना बनेगी.

    3. बुरी शक्तियों का नाश

    विधुन्तुद नमस्तुभ्यं सिंहिकानन्दनाच्युत
    दानेनानेन नागस्य रक्ष मां वेधजाद्भयात्॥

    ग्रहण के समय इस मंत्र के जाप से बुरी शक्तियों का नाश होता है और ग्रहण काल के बुरे प्रभावों से रक्षा होती है.

    4.शांति कायम करने के लिए

    तमोमय महाभीम सोमसूर्यविमर्दन।
    हेमताराप्रदानेन मम शान्तिप्रदो भव॥

    ग्रहण के दौरान इस मंत्र का जाप करने से शांति कायम होती है और राहु-केतु के प्रकोप शांत किया जा सकते हैं.

    5. सिद्धि प्राप्‍त करने के‍ लिए

    ॐ मां भयात् सर्वतो रक्ष, श्रियं वर्धय सर्वदा। शरीरारोग्यं मे देहि, देव-देव नमोऽस्तु ते।।

    ग्रहण के वक्त अगर आप इस मंत्र का जाप करें तो सिद्धि प्राप्‍त होती है.

    यह भी पढ़ें- Vastu Tips : घर की तुलसी आने वाली परेशानियों का दे सकती है पहले ही संकेत, इस तरह पहचानें

    ग्रहण के बाद करें ये काम
    मान्‍यता है कि अगर आप ग्रहण के बुरे असर से बचना चाहते हैं कि ग्रहण के बाद मंदिर में गंगा जल छिड़कने के बाद साफ-सफाई करें और देवी- देवताओं का गंगा जल के साथ अभिषेक करें. इसके अलावा गाय को रोटी खिलाएं. गाय को भोजन कराने से ग्रहण दोष दूर होता है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Lifestyle, Religion, Solar eclipse, Surya Grahan

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर