हनुमान चालीसा में छुपे हैं सेहत के ये खास रहस्य, मंगलवार को जरूर करें पाठ

हनुमान चालीसा में छुपे हैं सेहत के ये खास रहस्य, मंगलवार को जरूर करें पाठ
हनुमान चालीसा का पाठ करना स्मरण शक्ति और बुद्ध‍ि में वृद्ध‍ि करता है. साथ ही आत्मिक बल भी मिलता है.

हनुमान जी (Hanuman Ji) की कृपा पाने के लिए भगवान राम (Lord Rama) का सुमिरन करना चाहिए और नित्य हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ करना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2020, 7:19 AM IST
  • Share this:
वैदिक ग्रंथों में मंगलवार (Tuesday) का दिन सबसे शुभ माना गया है. कहते हैं कि कलियुग में हनुमान जी (Hanuman Ji) ही स्थायी भगवान हैं. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मंगलवार का दिन हनुमान जी का होता है. इस दिन हनुमान जी की पूजा करने से विशेष लाभ मिलता है. हनुमान जी की कृपा पाने के लिए भगवान राम (Lord Rama) का सुमिरन करना चाहिए और नित्य हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ करना चाहिए. लॉकडाउन के चलते आज के समय में लोगों के मन में शंका, भय, निराशा, अनिश्‍चितता, क्रोध और कई तरह की मानसिक समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं. विज्ञान की मानें तो भय और क्रोध इम्यून सिस्टम (Immune System) को प्रभावित करता है. वहीं इम्यून सिस्टम का संतुलन बिगड़ने से जल्दी से रोग से लोग ग्रसित हो जाते हैं. ऐसे में आइए जानते हैं किस तरह हनुमान चालीसा का पाठ आपको फायदा पहुंचा सकता है. दरअसल हनुमान चालीसा में सेहत के कुछ खास रहस्य छुपे हैं. इसलिए मंगलवार को हनुमान चालीसा का पाठ जरूर करें.

आध्यात्मिक बल
कहते हैं कि आध्यात्मिक बल से ही आत्मिक बल प्राप्त होता है और आत्मिक बल से ही लोग शारीरिक बल प्राप्त करके हर तरह के रोग से लड़कर उस पर विजय प्राप्त कर सकते हैं. हनुमान चालीसा का पाठ करने से मन और मस्तिष्क में आध्यात्मिक बल प्राप्त होता है. हनुमान जी को बल, बुद्धि और विद्या के दाता कहा जाता है, इसलिए हनुमान चालीसा का पाठ करना स्मरण शक्ति और बुद्ध‍ि में वृद्ध‍ि करता है. साथ ही आत्मिक बल भी मिलता है.

मनोबल बढ़ाती है हनुमान चालीसा
प्रतिदिन हनुमान चालीसा पढ़ने से पवि‍त्रता की भावना का विकास होता है और मनोबल बढ़ता है. मनोबल ऊंचा रहेगा तो सभी संकटों से मुक्ति मिलेगी. हनुमान चालीसा की एक पंक्ति हैं- अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता, असवर दिन जानकी माता.



इसे भी पढ़ेंः हर मनोकामना को पूरा करेंगे हनुमान जी के ये 10 मंत्र, दूर होंगे सारे संकट

अकारण भय व तनाव मिटता है
हनुमान चालीसा में एक पंक्ति है- भूत पिशाच निकट नहीं आवे महावीर जब नाम सुनावे.. या सब सुख लहै तुम्हारी सरना, तुम रक्षक काहू को डरना.. यह चौपाई मन में अकारण भय को समाप्त कर देती है. हनुमान चालीसा का पाठ आपको भय और तनाव से छुटकारा दिलाने में बेहद कारगर है.

हर तरह का रोग मिटता है
हनुमान चालीसा में एक पंक्ति है- नासै रोग हरे सब पीरा, जपत निरन्तर हनुमत बीरा.. या बल बुधि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार.. अर्थात किसी भी प्रकार का रोग हो आप बस श्रद्धापूर्वक हनुमानजी का जाप करते रहें. हनुमान जी आपकी पीड़ा हर लेंगे. कैसे भी कलेस हो अर्थात कष्ट हो, वह सम्पात हो जाएगा. श्रद्धा और विश्वास की ताकत होती है. मतलब यह कि दवा के साथ दुआ भी करें. हनुमान जी की कृपा से शरीर की समस्त पीड़ाओं से मुक्ति मिल जाती है.

हर तरह का संकट मिटता है
आप पर किसी भी प्रकार का शारीरिक या मानसिक संकट आया हो या प्राणों पर संकट आ गया हो तो यह पंक्ति पढ़ें- संकट कटै मिटै सब पीरा, जो सुमिरै हनुमत बलबीरा.. या संकट तें हनुमान छुड़ावै, मन क्रम बचन ध्यान जो लावै.. यह आपके भीतर नए सिरे से आशा का संचार कर देगी. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading