होम /न्यूज /धर्म /Tilak Benefits: माथे पर तिलक लगाने के हैं कई लाभ, जानें धार्मिक महत्व और नियम

Tilak Benefits: माथे पर तिलक लगाने के हैं कई लाभ, जानें धार्मिक महत्व और नियम

हिंदू धार्मिक परंपरा से जुड़ा है माथे पर तिलक लगाना, विज्ञान में भी बताए गए हैं कई लाभ

हिंदू धार्मिक परंपरा से जुड़ा है माथे पर तिलक लगाना, विज्ञान में भी बताए गए हैं कई लाभ

हिंदू धर्म से कई मान्यताएं और परंपराएं जुड़ी हुई हैं. इन्हीं में एक है माथे पर तिलक लगाना. सनातन धर्म में तिलक लगाने को ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

सनातन धर्म के अनुसार, माथे पर तिलक लगाना होता है शुभ.
अंगूठे या अनामिका उंगली से लगाना चाहिए माथे पर तिलक.
माथे पर तिलक लगाने से कुंडली में उग्र ग्रह होते हैं शांत.

हिंदू धर्म से कई प्रचलित मान्यताएं हैं, जिनके महत्व और लाभ के बारे में शास्त्रों में बताया गया है. सिर ढकना, चरण स्पर्श करना, शंख बजाना, जमीन पर बैठकर भोजन करना, हाथ जोड़कर प्रणाम करना और तिलक लगाना जैसी कई मान्यताएं हैं. हिंदू धर्म से जुड़ी ये परंपराएं और मान्यताएं सदियों से चली आ रही हैं. आज भी लोग पूरी निष्ठा से इनका पालन करते हैं. बात करें माथे पर तिलक लगाने की, तो तिलक लगाना हिंदू धर्म से जुड़ी धार्मिक प्रथा है. लेकिन साथ ही वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी इसके कई लाभ के बारे बताए गए हैं. दिल्ली के आचार्य गुरमीत सिंह जी से जानते हैं माथे पर तिलक लगाने के धार्मिक महत्व, लाभ और नियम के बारे में.

माथे पर तिलक लगाने का धार्मिक महत्व

  • धार्मिक मान्यता के अनुसार, माथे पर तिलक लगाने से ग्रहों की स्थिति में सुधार होता है और कुंडली में उग्र ग्रह शांत होते हैं.
  • माथे पर कुमकुम, सूखा सिंदूर, पीला चंदन, हल्दी, सफेद चंदन या भस्म आदि से तिलक लगाने का विधान है.
  • मान्यता है कि माथे पर तिलक लगाने से व्यक्ति का मस्तिष्क ठंडा रहता है और इससे उसके स्वभाव में मधुरता आती है.
  • धार्मिक मान्यता के अनुसार, यदि आप किसी शुभ कार्य के लिए घर से बाहर जा रहे हैं तो मस्तिष्क पर तिलक अवश्य लगाकर जाएं. इससे आपको हर कार्य में सफलता हासिल होती है.
  • तिलक को ईश्वरीय आस्था का प्रतीक माना जाता है, इसलिए भी तिलक लगाने का विशेष धार्मिक महत्व है. इससे शांति और ऊर्जा प्राप्त होती है.

यह भी पढ़ेंः किसकी सपने में बारिश होते दिखाई देने के क्या होते हैं संकेत? स्वप्नशास्त्र से जानें

माथे पर तिलक लगाने के लाभ
जहां धार्मिक दृष्टिकोण से तिलक लगाने के महत्व के बारे में वर्णन किया गया है, वहीं वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी माथे पर तिलक लगाने के कई लाभों के बारे में बताया गया है.

  • तिलक लगाने से मस्तिष्क को ठंडक मिलती है और इससे व्यक्ति किसी भी कार्य पर ध्यान केंद्रित करता है.
  • तिलक दोनों भौहों के बीच में लगाया जाता है. दोनों आंखों के बीच में आज्ञा चक्र होता है. इस आज्ञा चक्र पर तिलक लगाने से एकाग्रता बढ़ती है.
  • उंगली से माथे पर तिलक लगाते समय माथे पर दबाव पड़ता है. इससे नसों का रक्त संचार स्थिर रहता है.
  • वैज्ञानिक मत के अनुसार तिलक लगाने से मस्तिष्क में सेरोटोनिन और बीटा-एंडोर्फिन का स्राव संतुलित रहता है.
  • हल्दी का तिलक लगाने से त्वचा संबंधी रोग दूर होते हैं. क्योंकि इसमें एंटी-बैक्टीरियल तत्व होते हैं.

यह भी पढ़ेंः डरावने सपने और पैसों की तंगी को दूर करने में कारगर हैं लहसुन के ये उपाय

तिलक लगाने के नियम
ज्योतिष शास्त्र में तिलक लगाने के नियमों के बारे में बताया गया है. माथे पर तिलक हमेशा ही अनामिका उंगली से लगाना चाहिए. इसके अलावा आप अंगूठे से भी तिलक लगा सकते हैं. इन दोनों उंगुलियों से माथे पर तिलक लगाना शुभ होता है. जब आप स्वयं तिलक लगाते हैं तो अनामिका उंगली का प्रयोग करें. वहीं, जब आप किसी दूसरे के माथे पर तिलक लगाते हैं तो अंगूठे से लगाएं. इस बात का भी ध्यान रखें कि कभी भी बिना स्नान किए तिलक नहीं लगाना चाहिए.

Tags: Dharma Aastha, Religious

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें