• Home
  • »
  • News
  • »
  • dharm
  • »
  • TIPS TO PLEASE SURYA DEV OTHERWISE CAUSE DEFAMATION PUR

भगवान सूर्य को खुश करने के लिए करें ये उपाय, नहीं तो हो सकती है मानहानि

अगर आपके काम में बाधाएं उत्पन्न हो रही हैं तो लाल या सफेद कमल के पुष्प को सूर्यदेव की पूजा में इस्तेमाल करना चाहिए.

Surya Dev Puja: ज्योतिष में सूर्य को बहुत ही महत्वपूर्ण ग्रह माना गया हैं इसलिए अगर जातक की कुंडली में सूर्य कमजोर होता हैं तो मानहानि की संभावना अधिक होती है. वहीं पिता और गुरु से संबंध खराब होते हैं.

  • Share this:
    Surya Dev Puja: हिंदू धर्म में पंचदेवों में से सूर्य देव (Lord Surya) भी एक माने गए हैं. वहीं ज्योतिष में भी सूर्य का बहुत महत्व माना गया है. ज्योतिष के अनुसार सूर्य को ग्रहों का राजा माना जाता है. यह मनुष्य के जीवन में मान-सम्मान, पिता-पुत्र और सफलता का कारक माना गया है. ज्योतिष के अनुसार सूर्य हर माह एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं. इस तरह से बारह राशियों में सूर्य एक वर्ष में अपना चक्र पूर्ण करते हैं. सूर्य को आरोग्य का देवता माना गया है. सूर्य के प्रकाश से ही पृथ्वी पर जीवन (Life On Earth) संभव है. सूर्य को प्रतिदिन जल देने से जातक को आध्यात्मिक लाभ प्राप्त होते हैं. साथ ही स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त होते हैं.

    ज्योतिष में सूर्य को बहुत ही महत्वपूर्ण ग्रह माना गया हैं इसलिए अगर जातक की कुंडली में सूर्य कमजोर होता हैं तो मानहानि की संभावना अधिक होती है. वहीं पिता और गुरु से संबंध खराब होते हैं. रविवार के दिन सूर्यदेव की पूजा से कुंडली में सूर्य मजबूत हो जाता है जिससे जातक को बल और शक्ति प्राप्त होती है. घर में सुख समृद्धि आती है. आइए आपको बताते हैं कि सूर्य देव की कृपा प्राप्त करने के लिए आपको कौन से उपाय अपनाने चाहिए.

    इसे भी पढ़ेंः रविवार को इस तरह से करें सूर्य मंत्रों का जाप, रोगों से मिलेगी मुक्ति

    भगवान सूर्य को खुश करने के उपाय

    -सूर्य भगवान को प्रसन्न करने और कुंडली में सूर्य को मजबूत करने के लिए उन्हें जल अर्पित करें. जो लोग रोजाना नियम से या हर रविवार के दिन सूर्य देव को जल अर्पित करते हैं उनके जीवन से दरिद्रता भाग जाती है.

    -रविवार को जल में थोड़ा गुड़ मिलाकर उगते हुए सूर्य को जल अर्पित करना अच्छा माना जाता है.

    - रविवार के दिन आदित्यह्रदय स्तोत्र का पाठ करना भी शुभ होता है. इस पाठ को करने से सभी तरह के कष्ट और रोगों से छुटकारा मिल जाता है. उगते हुए सूर्य के सामने आदित्यह्रदय स्तोत्र का पाठ करना चाहिए.

    इसे भी पढ़ेंः सूर्यदेव के नामों के पीछे छिपी हैं ये पौराणिक कथाएं, जानें क्यों कहा जाता है उन्हें 'दिनकर'

    -अगर आपके काम में बाधाएं उत्पन्न हो रही हैं तो लाल या सफेद कमल के पुष्प को सूर्यदेव की पूजा में इस्तेमाल करना चाहिए.

    -कुंडली में सूर्य को मजबूत करने के लिए रविवार के दिन व्रत करना अच्छा माना जाता है. इससे जातक के मान सम्मान में वृद्धि हाती है. कार्यों में भी सफलता प्राप्त होती है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)
    Published by:Purnima Acharya
    First published: