लाइव टीवी

उगादी, नवरात्रि, या गुड़ी पड़वा की सजावट में चार चांद लगा देंगे ये लेटेस्ट रंगोली डिजाइन

News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 8:52 AM IST
उगादी, नवरात्रि, या गुड़ी पड़वा की सजावट में चार चांद लगा देंगे ये लेटेस्ट रंगोली डिजाइन
उगादी, नवरात्रि, या गुड़ी पड़वा की सजावट के लिए लेटेस्ट रंगोली डिजाइन

रंगोली शब्द संस्कृत भाषा ' ‘रंगावली' से आया है. कई लोग पूजा, हवन, गृह प्रवेश पहले भी रंगोली बनाते हैं. धार्मिक मान्यता है कि रंगोली से देवी-देवता प्रसन्न होते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 8:52 AM IST
  • Share this:
हिंदू धर्म में रंगोली का काफी धर्मिक महत्त्व है. इसे संस्कृति और आस्था का प्रतीक माना जाता है. त्यौहार, व्रत और अन्य धार्मिक आयोजनों में लोग अपने घर या मुख्य द्वार के बाहर आटे और सूखे रंगों की मदद से रंगोली बनाते हैं. कई जगहों पर रंगोली में देवी- देवताओं की आकृतियां उकेरी जाती हैं और कहीं पर फूल, पत्ती और बेलबूटे भी बनाए जाते हैं. धार्मिक आयोजनों पर रंगोली बनाना काफी शुभ माना जाता है. आज दक्षिण भारत में उगादी मनाया जा रहा है. इस त्यौहार पर मुख्य रूप से लोग अपने घरों में या मुख्य द्वार पर चावल के आटे और सूखे रंगों की मदद से रंगोली बनाते हैं. नवरात्रि में भी कुछ लोग रंगोली बनाना पसंद करते हैं. रंगोली शब्द संस्कृत भाषा ' ‘रंगावली' से आया है. कई लोग पूजा, हवन, गृह प्रवेश पहले भी रंगोली बनाते हैं. धार्मिक मान्यता है कि रंगोली से देवी-देवता प्रसन्न होते हैं. ऐसे में आइए नजर डालते हैं कुछ लेटेस्ट मनोरम रंगोली डिजाइन्स पर...

फूलों से बनाएं रंगोली:
रंगोली अमूमन आटे या रंगों से बनाई जाती है. लेकिन अगर आप इसमें कुछ बदलाव करना चाहती हैं या कुछ नया आजमाना चाहती हैं तो रंगबिरंगे फूलों से रंगोली बना सकती हैं. इसके लिए आप कंट्रास्ट कलर के फूलों का इस्तेमाल कार सकती हैं.






 




View this post on Instagram




 

The floral designs on the ground are called Rangoli, which can bring spiritual energy and good luck. I find it so uplifting and beautiful. Hyderabad, India March 7, 2020 #vacation #memories #wedding #india #rangoli #colorful #flowers


A post shared by julisandy (@julisandy6) on






 

चावल के आटे से बनाएं रंगोली:
दक्षिण भारत में ज़्यादातर लोग चावल के आटे से रंगोली बनाते हैं. वहां रंगोली बनाना काफी शुभ माना जाता है. कई लोग सुबह उठकर मुख्य द्वार की साफ सफाई करते हैं और चावल के आटे से रंगोली बनाते हैं. आज उगादी है इसलिए आज भी घरों में रंगोली बनाई जाएगी. आप चाहें तो इस डिजाइन से इंस्पिरेशन ले सकते हैं.




 
रंग बिरंगे रंगों से बनाएं रंगोली:
गुड़ी पड़वा पर भी कई लोग रंगोली बनाते है, ऐसे में अगर आप भी रंगोली बनाने की सोच रहे हैं तो इस डिजाइन से इंस्पिरेशन ले सकते हैं.



 




View this post on Instagram




 

।।गुढीपाडवा।। . मराठी नुतन वर्षाच्या शुभेच्छा . . #gudipadwa2020 #gudipadwa #goodvibes #marathinewyear #rangoliphotography #rangoli #rangoliart #homedecor #homemade #rangolilovers #rangoliartist #rangoli_competition #rangolibyme #rangoli2020 #kolam #rangoliimages #artistoninstagram #prettyrangoli #prettyrangoliart7 #happygudipadwa #gudipadwaspecial #myrangoli #rangoliartist #गुढीपाडवा #गुढीपाडवा२०२० #नुतनवर्षाच्याशुभेच्छा #नुतनवर्ष #गुढीपाडवा #ugadi #gudipadwa_rangoli2020 #ugadi_rangoli_design #haldikumkumspecial


A post shared by creative rangoli (@queen.of.dakhkhana.rangoli) on






 

इस रंगोली को कई रंगों की मदद से बेहद पारम्पारिक अंदाज में बनाया गया है. साथ ही इसमें गुड़ी पड़वा की शुभकामनाएं भी दी गई हैं.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्म से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 8:47 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर