दुर्गा पूजा पंडाल में कोरोना वॉरियर्स को खास ट्रिब्यूट, स्‍पेशल थीम पर था ये पंडाल

एक पंडाल में देवी दुर्गा के हाथ में पारम्परिक त्रिशूल की जगह मुकुट दिया गया. Image credit: ANI/Twitter
एक पंडाल में देवी दुर्गा के हाथ में पारम्परिक त्रिशूल की जगह मुकुट दिया गया. Image credit: ANI/Twitter

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में कई दुर्गा पूजा पंडाल (Durga Puja Pandal) स्वास्थ्य कर्मियों को ट्रिब्यूट देने वाली थीम पर बनाए गए. मुर्शिदाबाद के एक पंडाल में स्वास्थ्य कर्मचारियों को ट्रिब्यूट (Tribute) दिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 5:42 PM IST
  • Share this:
कोरोना वॉरियर्स को ट्रिब्यूट देने वाले कई दुर्गा पूजा पंडाल (Durga Puja Pandal) पश्चिम बंगाल (West Bengal) में देखने को मिले. ऐसा ही एक पंडाल मुर्शिदाबाद में बनाया गया जहां स्वास्थ्य कर्मचारियों को ट्रिब्यूट (Tribute) दिया गया. इस पंडाल में देवी खुद स्वास्थ्य कर्मियों को सम्मान दे रही हैं. कोरोनोवायरस महामारी (Coronovirus Epidemic) के कारण वार्षिक दुर्गा पूजा उत्सव पूरे बंगाल में शांत रहा. एक राज्य जिसमें अपने बंगाली हिंदू जनसांख्यिकीय बहुमत के कारण दुर्गा पूजा पंडालों की संख्या सबसे ज्यादा देखी जाती है. हालांकि कोरोना वायरस महामारी कला और रचनात्मकता को रोक नहीं पाई, जो पूजा पंडालों और मूर्तियों का एक प्रमुख केंद्र है.

त्रिशूल की जगह मुकुट
मुर्शिदाबाद में एक पंडाल में देवी दुर्गा के हाथ में पारम्परिक त्रिशूल की जगह मुकुट दिया गया. इसमें दिखाया गया कि देवी खुद अपने हाथों से एक स्वास्थ्यकर्मी के सिर पर यह ताज रख रही हैं. इससे यह दर्शाया गया कि आपका जीवन डॉक्टरों के सुरक्षित हाथों में था, जिन्होंने खुद देवी-देवताओं की अथक निभाई है. कोविड 19 महामारी में लोगों की जान बचाने के लिए ये आगे आए. पंडाल की पूजा समिति के सदस्य शोमोदीप शोनी ने न्यूज एजेंसी ANI से कहा कि देश भर में स्वास्थ्य कर्मी हमारे लिए काम कर रहे हैं और हमारे पंडाल का विषय मूल रूप से उन्हें ट्रिब्यूट देना है. देवी दुर्गा इसमें अपने हाथों से स्वास्थ्य कर्मी के सिर पर ताज पहनाते हुए नजर आती है.

ये भी पढ़ें - इस बार दुर्गा पूजा पंडाल में प्रवासी महिला श्रमिक की प्रतिमा आएगी नजर
कोरोना थीम वाले पंडाल


इस थीम के बारे में शोमोदीप ने कहा कि मुख्य उद्देश्य यही था कि कैसे स्वास्थ्य कर्मियों ने कोरोना वायरस को सीमित करने में शानदार काम किया. लोगों को इसके बारे में जागरूक करने के लिए ही यह थीम पंडाल में प्रयोग की गई. एक अन्य सदस्य ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों को सम्मानित करने के विचार के साथ यह थीम रखी गई क्योंकि डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों ने लोगों को कोरोना वायरस से ठीक करने में मदद की.

ये भी पढ़ें - Corona Effect: पश्चिम बंगाल में सिल्वर मास्क पहने नजर आएंगी देवी दुर्गा

इसके अलावा भी पंडाल ने कोरोना वायरस को लेकर जागरूकता का संदेश देते हुए इससे बचने के उपाय आदि को भी थीम में शामिल किया. यह पहला पंडाल नहीं था जहां कोरोना वायरस को मध्येनजर रखते हुए पंडाल का थीम रखा गया है. कोलकाता में भी कई जगहों पर कोरोना वायरस थीम वाले पंडाल देखे गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज