Home /News /dharm /

Valmiki Jayanti 2021: वाल्मीकि जयंती पर दोस्तों और रिश्तेदारों को भेजें ये खास संदेश

Valmiki Jayanti 2021: वाल्मीकि जयंती पर दोस्तों और रिश्तेदारों को भेजें ये खास संदेश

जय महर्षि वाल्मीकि जी.

जय महर्षि वाल्मीकि जी.

Valmiki Jayanti 2021: माना जाता है कि वाल्‍मीकि पहले एक डाकू थे, उनका नाम रत्नाकर था लेकिन जीवन में एक ऐसा मोड़ आया जब नारद मुनि की बात सुनकर उनका हृदय परिवर्तन हो गया.

    Valmiki Jayanti 2021 Wishes: हर वर्ष आश्विन माह की पूर्णिमा को महर्षि वाल्मीकि का जन्मदिन मनाया जाता है. ऐसे में कल वाल्मीकि जयंती है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, महर्षि वाल्मीकि ने ही रामायण (Ramayan) की रचना की थी. संस्‍कृत भाषा के परम ज्ञानी महर्षि वाल्‍मीकि का जन्म देश के कई राज्यों में धूमधाम से मनाया जाता है. माना जाता है कि वाल्‍मीकि पहले एक डाकू थे, उनका नाम रत्नाकर था लेकिन जीवन में एक ऐसा मोड़ आया जब नारद मुनि की बात सुनकर उनका हृदय परिवर्तन हो गया और उन्होंने अनैतिक कार्यों को छोड़ प्रभु का मार्ग चुना. इसके बाद वह महर्षि वाल्मीकि के नाम से विख्यात हुए. कुछ जगहों पर वाल्मीकि समाज वाल्मीकि शोभा यात्रा भी निकालता है. आइए आपको बताते हैं वाल्मीकि जयंती पर कुछ ऐसे शुभकामना संदेशों के बारे में जिन्हें आप अपने करीबियों, दोस्तों और रिश्तेदारों को भेज सकते हैं.

    जैसे पके हुए फलों को गिरने के सिवा कोई भय नहीं,
    वैसे ही पैदा हुए मनुष्य को मृत्यु के सिवा कोई भय नहीं.
    जय महर्षि वाल्मीकि जी
    Happy Valmiki Jayanti

    इसे भी पढ़ेंः Valmiki Jayanti 2021: इस दिन मनाई जाएगी वाल्मीकि जयंती, जानें महाकाव्य रामायण की रचना की कहानी

    गुरु होता है सबसे महान
    जो देता है सबको ज्ञान
    आओ इस वाल्मीकि जयंती पर
    करें अपने गुरु को प्रणाम
    Happy Valmiki Jayanti

    महर्षि वाल्मीकि सुनाए कथा भगवान की
    कथा महापुराण रामायण की
    सीता-राम, लक्षमण और हनुमान की
    जय वाल्मीकि समाज की
    जय महर्षि वाल्मीकि जी की
    Happy Valmiki Jayanti

    दर्शन देख देख मैं जीवा..
    चरण धोए धोए मैं पीवा..
    वाल्मीकि प्रभु सबसे ऊंचे.
    .मैं सबना तो नीवा !! जय वाल्मीकि
    Happy Valmiki Jayanti

    लिख दी जिसने कथा पवित्र सीता-राम की
    साथ ही बताई भक्ति रामभक्त हनुमान की
    प्रेम भाई भरत और लक्ष्मण का अनूठा
    कैसे मां कौशल्या दशरथ से भाग्य रूठा
    Happy Valmiki Jayanti

    इसे भी पढ़ेंः सूर्यदेव के नामों के पीछे छिपी हैं ये पौराणिक कथाएं, जानें क्यों कहा जाता है उन्हें ‘दिनकर’

    रामायण के हैं जो रचयिता
    संस्कृत के हैं जो कवी महान
    ऐसे हमारे पूज्य गुरुवर
    जिनके चरणों में हमारा प्रणाम
    Happy Valmiki Jayanti

    Tags: Religion

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर