Home /News /dharm /

प्रथम आराध्य श्री गणेश की बुधवार को इस तरह करें पूजा, सभी संकट हो जाएंगे दूर

प्रथम आराध्य श्री गणेश की बुधवार को इस तरह करें पूजा, सभी संकट हो जाएंगे दूर

बुधवार का दिन प्रथम आराध्य भगवान गणेश जी का दिन माना जाता है. Shutterstock

बुधवार का दिन प्रथम आराध्य भगवान गणेश जी का दिन माना जाता है. Shutterstock

Wednesday Ganesh Pujan: सुखकर्ता एवं विघ्नहर्ता भगवान गणेश का दिन बुधवार को माना जाता है. इस दिन गणेशजी का पूजन करने से समस्त विघ्नों का नाश हो जाता है और घर में सुख-समृद्धि का वास होता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार श्री गणेश जी की उत्पत्ति मां पार्वती के मैल से हुई थी. जिस वक्त मां पार्वती गणेशजी का सृजन कर रही थीं उस वक्त बुध देव भी वहां उपस्थित थे. इसी वजह से बुधवार को भगवान गणेश जी का दिन माना जाता है. किसी भी शुभ कार्य को शुरू करने से पहले भगवान गणेश जी की पूजा का विधान है. गणेश जी को बुद्धि का देवता भी माना जाता है.

अधिक पढ़ें ...

    Wednesday Ganesh Pujan: बुधवार (Budhwar) का दिन प्रथम आराध्य भगवान गणेश (Lord Ganesh) का दिन माना जाता है. हिंदू धर्म में सभी देवी-देवताओं के लिए एक दिन विशेष तय है, उस दिन संबंधित भगवान की आराधना करने से विशेष लाभ होता है. जिस तरह सोमवार का दिन भगवान शिवजी का दिन माना जाता है, उसी तरह शिवपुत्र भगवान गणेश के पूजन का विशेष दिन बुधवार को माना गया है. बुधवार के दिन सच्ची श्रध्दा से गणेशजी का पूजन (Ganesh Pujan) करने से जीवन के समस्त संकटों का नाश हो जाता है. धार्मिक मान्यता के अनुसार इस दिन विधि-विधान से गणेशजी का पूजन करने से वे अपने भक्तों पर प्रसन्न हो जाते हैं और भक्त के घर सुख-शांति के साथ ही समृद्धि का वास हो जाता है.

    भगवान गणेश को बुद्धि का देवता भी माना जाता है. बुधवार को गणेश पूजा करने से बुद्धि एवं विवेक में भी बढ़ोतरी होती है. किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत करने के पहले गणेश जी की आराधना करना अनिवार्य माना गया है. धार्मिक मतों के अनुसार सभी देवी-देवताओं के पहले भगवान गणेश का पूजन अनिवार्य होता है.

    बुधवार इस वजह से है गणेशजी का वार

    पौराणिक मान्यताओं के अनुसार जिस वक्त कैलाश पर्वत पर मां पार्वती द्वारा गणेश जी की उत्पत्ति की गई थी उस वक्त वहां पर बुध देव भी मौजूद थे, इसी वजह से बुधवार को गणेश जी का प्रमुख वार माना गया है.

    इसे भी पढ़ें: मंगलवार को भूलकर भी न करें ये काम, संकटों का करना पड़ सकता है सामना

    इस तरह करें गणेश पूजन

    गणेश जी का पूजन विधि-विधान से करने पर ही पूजा का  पूर्ण लाभ प्राप्त होता है. अत: यह जरूरी है कि उनका पूजन करते समय समस्त धार्मिक नियमों का क्रमानुसार पालन किया जाए. भगवान गणेश को खुशी का देवता भी माना गया है, यही वजह है कि वे जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं. उनका पूजन करते वक्त निम्न बातों का ध्यान रखें.

    इसे भी पढ़ें: शनिवार को क्या करने से प्रसन्न होंगे शनिदेव और क्या करने से नाराज़? जानें

    – गणेश जी को लड्डू पसंद हैं इसलिए भोग के तौर पर उन्हें बूंदी के लड्डू या मोदक का प्रसाद चढ़ाएं
    – पूजा के दौरान गणेश जी को दूर्वा की गांठें अर्पित करें.

    – घर में क्लेश होने की सूरत में गणेश जी की सफेद प्रतिमा स्थापित करें.
    – गणेश जी के पूजन के दौरान उन्हें लाल सिंदूर अर्पित करें.

    – गजानन को गुड़ और गाय के घी का भी भोग लगाया जाता है.
    (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Religion

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर