मंगलवार को हनुमान जी को क्यों चढ़ाया जाता है नारियल, जानें इसके पीछे की रोचक बात

अगर आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है तो हनुमान जी को नारियल चढ़ाएं.

अगर आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है तो हनुमान जी को नारियल चढ़ाएं.

Lord Hanuman Puja: हनुमान जी को लड्डू, सिंदूर, लाल कपड़ा, पान का बीड़ा चढ़ाने के साथ साथ नारियल (Coconut) भी चढ़ाया जाता है. मंगलवार के दिन हनुमान जी को नारियल चढ़ाने से लोग संकट मुक्त होते हैं.

  • Share this:
Lord Hanuman Puja: हनुमान जी (Hanuman Ji) अपने भक्तों पर आने वाले तमाम तरह के कष्टों और परेशानियों को दूर करते हैं. ऐसी मान्यता है कि भगवान हनुमान बहुत जल्द प्रसन्न होने वाले देवता हैं. उनकी पूजा पाठ में ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं होती. मंगलवार (Tuesday) को उनकी पूजा के बाद अमृतवाणी और श्री हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ करने से बजरंगबली खुश होते हैं और भक्तों की मनोकामना पूरी करते हैं. हनुमानजी की पूजा अलग-अलग तरीके से की जाती है. हनुमानजी का नाम लेना ही उनके भक्तों के लिए मंत्र, चालीसा और पूजा के समान है. लेकिन अगर कोई भक्त संकट में हो और उसे हनुमानजी को जल्दी प्रसन्न करना हो तो इसके लिए संकट के अनुसार कई तरह की चीजें बजरंगबली को चढ़ाने के बारे में बताया गया है.

क्या आपको पता है कि हनुमान जी को लड्डू, सिंदूर, लाल कपड़ा, पान का बीड़ा चढ़ाने के साथ साथ नारियल भी चढ़ाया जाता है. मंगलवार के दिन हनुमान जी को नारियल चढ़ाने से लोग संकट मुक्त होते हैं. आइए आपको बताते हैं कि नारियल चढ़ाने से हनुमान जी किस तरह प्रसन्न होकर भक्तों की मदद करते हैं. कहते हैं कि यदि आपके जीवन में कोई घोर संकट है या ऐसा काम है जिसे करना आपके बस का नहीं हो रहा है, तो आप अपनी जिम्मेदारी हनुमानजी को सौंप दें. इसके लिए आप मंगलवार के दिन किसी मंदिर में पूजा-पाठ करने के बाद उन्हें पान का बीड़ा अर्पित कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः मंगलवार को इस विधि से करें हनुमान जी की पूजा, सारे कष्‍ट होंगे दूर

मान्यता है कि हनुमान जी को सीला बनारसी पान चढ़ाने से आपकी मनोकामना पूरी होगी. इसी तरह अगर आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है तो हनुमान जी को नारियल चढ़ाएं. नारियल पर हनुमान जी का प्रिय सिन्दूर लगाकर लाल धागा बांधें और मंगलवार को उनके चरणों में अर्पित करें. कहते हैं ऐसा करने से पैसों की कमी नहीं होती है. ऐसा कम से कम 11 मंगलवार करें. साथ ही हनुमान चालीसा और बजरंग बाण का पाठ अवश्य करें. वहीं अगर आपको बहुत ज्यादा भय लगता हो या फिर कोई अनजाना डर सता रहो तो भी आप हनुमान जी को नारियल अर्पित कर सकते हैं. साथ ही हर रोज सुबह-शाम हनुमान चालीसा का पाठ करना न भूलें.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज