सावन सोमवार के व्रत में क्यों नहीं खाते सफेद नमक, जानिए क्या है वजह

सोमवार को व्रत करने वाले लोग मुख्यतया फलाहार करते हैं और दूध पीते हैं.
सोमवार को व्रत करने वाले लोग मुख्यतया फलाहार करते हैं और दूध पीते हैं.

सावन (Sawan) महीने में सोमवार को लाखों की संख्या में श्रद्धालु व्रत (Fast) रखते हैं. इस दिन सफेद नमक (White salt) लोग नहीं खाते बल्कि इसके बदले में सेंधा नमक (Rock salt) खाते हैं. सावन सोमवार व्रत में सफेद नमक क्यों नहीं खाया जाता इसकी वजह हम आपको बता रहे हैं...

  • Share this:
सावन (Sawan)महीने में खासकर सोमवार को बड़ी संख्या में श्रद्धालु व्रत (Fast) रखते हैं. इस व्रत में लोग सफेद नमक (White salt) का सेवन नहीं करते या फिर सेंधा नमक (Rock salt) से बनी चीजों को खाते हैं. सोमवार को व्रत करने वाले लोग मुख्यतया फलाहार करते हैं और दूध पीते हैं. इस दिन लोग बिना नमक से बनी चीजें ही खाते हैं. आखिर इस व्रत में नमक क्यों नहीं खाया जाता. आज हम इसके बारे में बता रहें...

सफेद नमक आर्टिफिशल और केमिकल बेस्ड नमक होता है और इसे शुद्ध नहीं माना जाता. यही वजह है कि सावन सोमवार को व्रत वाले लोग सफेद नमक नहीं खाते. और उसकी जगह सेंधा नमक यानी रॉक सॉल्ट का उपयोग करते हैं. क्योंकि सेंधा नमक को सफेद नमक की तुलना में ज्यादा शुद्ध और पवित्र माना जाता है.

स्वास्थ्यवर्धक होता है सेंधा नमक
एनबीटी की खबर के अनुसार आयुर्वेद में सेंधा नमक को स्वास्थ्यवर्धक बताया गया है, क्योंकि ये कफ, वात और पित्त को शांत करता है. कम ही लोगों को जानकारी होती है कि इस नमक में शरीर के लिए जरूरी सारे तत्व जैसे- लोहा, कैल्शियम, पोटेशियम और जिंक होते हैं. सेंधा नमक में किसी तरह की अशुद्धियां और रसायन नहीं होते. अगर आप रोज सेंधा नमक खाते हैं तो आपका रक्त संचार सही रहता है. ये आपके शरीर से टॉक्सिन (हानिकारक तत्वों) को बाहर निकालता है.
Recipe: मथुरा के पेड़े खाकर भूल जाएंगे मिठाई और सोनपापड़ी



व्रत के दिन नमक न खाने की एक वजह यह भी है कि व्रत के दौरान आपको हल्का भोजन करना होता है. लिहाजा नमक न खाने से शरीर में हल्कापन महसूस होता है. वहीं सेंधा नमक में मौजूद कूलिंग प्रॉपर्टीज व्रत और उपवास के दौरान बनने वाले खाने के लिए अच्छा माना जाता है. इसमें व्रत के दौरान शरीर को जो पोषक तत्व चाहिए होते हैं मिल जाते हैं.

सेंधा नमक करता है औषधि का काम
सेंधा नमक दिखने में हल्के गुलाबी रंग का होता है, जिसको लोग व्रत के मौके पर विशेष रूप से खाते है. इसे शुद्ध नमक माना जाता है. इसे पहाड़ी और लाहौरी नमक के नाम से भी जाना जाता है. सेंधा नमक खाने के कआ तरह के फायदें हैं. सबसे बड़ी बाद यह है कि आयुर्वेद भी सेंधा नमक को स्वास्थ्यवर्धक मानता है. इसका पहला लाभ है कि सेंधा नमक खाने की इच्छा को नियंत्रण में रखता है, जिसके कारण आपका वजन नहीं बढ़ता. सेंधा नमक खाने से शरीर की चर्बी भी दूर होती है. सेंधा नमक में नींबू का रस मिलाकर पीने से उल्टी में आराम मिलता है. रोज सेंधा नमक खाने से रक्त संचार सही रहता है. सेंधा नमक खराब पाचन के उपचार के तौर पर खाया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज