Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    शुभ कार्यों में क्यों रखे जाते हैं आम के पत्‍ते, जानें कैसे दिलाते हैं हनुमान जी की कृपा

    जब पूजा का कलश तैयार किया जाता है, तब उसके ऊपर भी आम के वृक्ष की पत्तियों को लगाया जाता है.
    जब पूजा का कलश तैयार किया जाता है, तब उसके ऊपर भी आम के वृक्ष की पत्तियों को लगाया जाता है.

    हिन्दू धर्म में वृक्षों का काफी सम्मान किया जाता है, उन्हें पूजा जाता है और उन्हें अन्न देवता (God) माना जाता है. आम के पत्‍तों (Mango Leaves) को खासतौर पर पूजा में शामिल क‍िया जाता है. तमाम मंगल कार्यों में आम के वृक्ष की पत्तियां (आम्र पल्लव) लगाई जाती हैं.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 6, 2020, 7:27 AM IST
    • Share this:
    हनुमान जी (Hanuman Ji) अपने भक्तों पर आने वाले तमाम तरह के कष्टों (Pains) और परेशानियों (Problems) को दूर करते हैं. ऐसी मान्यता है कि भगवान हनुमान (Lord Hanuman) बहुत जल्द प्रसन्न होने वाले देवता हैं. उनकी पूजा पाठ में ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं होती. शायद यही वजह है कि आज के समय में हनुमान जी के भक्तों की संख्या भी बहुत अधिक हो गई है. हनुमान जी राम भक्त हैं और उनकी शरण में जाने मात्र से भक्तों के सभी संकट दूर हो जाते हैं. हिन्दू परिवारों में जब कोई शुभ कार्य होता है तो सजावट के तौर पर घर के प्रवेश द्वार के ऊपर आम के पेड़ की पत्तियां (आम्र पल्लव) लगाई जाती हैं. आइए आपको बताते हैं इसके पीछे क्‍या है धार्मिक कारण.

    हिन्दू धर्म में वृक्षों का काफी सम्मान किया जाता है, उन्हें पूजा जाता है और उन्हें अन्न देवता माना जाता है. आम के पत्‍तों को खासतौर पर पूजा में शामिल क‍िया जाता है. तमाम मंगल कार्यों में आम के वृक्ष की पत्तियां (आम्र पल्लव) लगाई जाती हैं. लेकिन इस वृक्ष की पत्तियों में ऐसा क्या खास है जो इनका शुभ कार्यों में इस्तेमाल किया जाता है.

    इसे भी पढ़ेंः क्यों करना चाहिए सुंदरकांड का पाठ, जानें इसका सही तरीका और महत्व



    केवल घर के दरवाजे पर ही नहीं, जब पूजा का कलश तैयार किया जाता है, तब उसके ऊपर भी आम के वृक्ष की पत्तियों को लगाया जाता है. इतना ही नहीं, हिन्दू रीति अनुसार जब किसी की शादी होती है तब भी शादी के मंडप को आम के वृक्ष की पत्तियों से सजाया जाता है. नवजात बच्चे के पालने को भी आम के वृक्ष की पत्तियों से सजाया जाता है. इसके अलावा भी ऐसे कई धार्मिक कर्म-कांड और मांगलिक कार्य हैं जहां आम के वृक्ष की पत्तियों का बड़ी मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है. धार्मिक मान्यता के अनुसार आम को हनुमान जी का प्रिय फल माना जाता है. इसलिए जहां भी आम और आम का पत्ता होता है वहां हनुमान जी की विशेष कृपा बनी रहती है.
    इसे भी पढ़ेंः हनुमान जी की इस प्रतिमा की पूजा करने से पूरी होती है मनोकामना, लेकिन ध्यान रखें ये बात...

    वहीं माना जाता है कि आम की लकड़ी, घी, हवन सामग्री के हवन में उपयोग से वतावरण में सकारात्मकता बढ़ती है. बाहर से आने वाली हवा जब भी इन पत्तियों का स्पर्श कर घर में प्रवेश करती है तो वह खुद में सकारात्मक कणों को लाती है. ऐसी हवा से घर में सुख व समृद्धि बढ़ती है और ऐसे घर को कलह-कलेष कभी भी जकड़ नहीं सकता. इसके अलावा ऐसा भी माना जाता है कि प्रवेश द्वार पर आम की पत्तियां लटकाने से बिना विघ्न सारे मांगलिक कार्य पूरे हो जाते हैं.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज